बेंगलुरू/ओपनर प्रकाश जयराम्मैया और कप्तान अजय कुमार रेड्डी की शानदार बल्लेबाजी से भारत की दृष्टिबाधित क्रिकेट टीम ने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को नौ विकेट से करारी शिकस्त देकर दूसरी बार ट्वंटी20 दृष्टिबाधित विश्व कप का खिताब जीता।

पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए बदर मुनीर के 57 रन की मदद से आठ विकेट पर 197 रन बनाये। भारत ने 17.4 ओवर में एक विकेट पर 200 रन बनाकर जीत दर्ज की। मैन ऑफ द मैच प्रकाश ने 99 रन की नाबाद पारी खेली जबकि अजय कुमार रेडडी ने रन आउट होने से पहले 43 रन बनाये।
इससे पहले 2012 में भी इन दोनों टीमों के बीच फाइनल खेला गया था जिसमें भारत विजयी रहा था। इस जीत से भारतीय टीम ने पाकिस्तान से लीग चरण में मिली हार का बदला भी चुकता कर दिया। बदर मुनीर ने टूनार्मेंट में सर्वाधिक 570 रन बनाए और उन्हें मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

टूर्नामेंट में नौ में से आठ मैच जीतने वाली भारतीय टीम को प्रकाश और रेड्डी ने पहले विकेट के लिए 10.2 ओवर में 112 रन जोड़कर अच्छी शुरुआत दिलायी। रेड्डी के रन आउट होने के बाद केतन पटेल ने प्रकाश का अच्छा साथ दिया। उन्होंने रिटायर्ड हर्ट होने से पहले 26 रन बनाए।

इससे पहले पाकिस्तानी पारी मुनीर के ईद गिर्द की घूमती रही। उनके अलावा मोहम्मद जमील ने 24 और आमिर शफाक ने 20 रन बनाये। भारत की तरफ से केतन पटेल और मोहम्मद जफर इकबाल ने दो-दो तथा अजय कुमार रेड्डी और सुनील ने एक-एक विकेट लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here