इंदौर में राजा चौधरी नाम के इस किसान को आलू की खेती करना काफी महंगा साबित हुआ है। राजा चौधरी इंदौर की मंदी में जब अपने आलू की उपज का 20 क्विंटल आलू बेचा तो उन्हें मुनाफे के रूप में केवल एक रुपया नसीब हुआ। अपने मेहनताना के रूप में जब रजा चौधरी को एक रुपये का मुनाफा हुआ तो वह काफी निराश हुए और अपनी मेहनत, लागत और बिक्री के बिल के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। किसान ने मंडी में आलू बेचने का बिल भी ट्विटर पर शेयर किया।किसान राजा चौधरी का दावा है कि इस बार तो उसे एक रुपए का मुनाफा भी हुआ है, वहीँ पिछली बार उन्होंने 1620 रुपए के आलू बेचे थे, जबकि खर्च हुए थे 2393 रुपए। यानी 773 रुपए का उसे नुकसान हुआ है। अपनी बात को साबित करने के लिए किसान राजा चौधरी ने खर्च और आमदनी का बिल अपने पास संभालकर रखा है।किसान यूनियन के सदस्य केदार सिरोही ने आमदनी और खर्च का बिल ट्विटर पर शेयर कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शेयर किया है। ट्वीट में लिखा है, 2000 किलो आलू की कीमत 1 रुपया इसमें बताओ कितना रुपया किलो मिलेगा किसान को? विद्वान गुना भाग और जोड़ कर बताये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here