नई दिल्ली, एजेंसी।भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन के जनरल कोच में मंगलवार सुबह हुए धमाके के मामले में तीन लोगों को हिरासत में लिया। भोपाल-उज्जैन रेलखंड के कालापीपल एवं सीहोर रेलवे स्टेशन के बीच जबड़ी रेलवे स्टेशन पर हुए इस धमाके में 10 यात्री घायल हुए हैं। मध्यप्रदेश पुलिस महानिरीक्षक (कानून व्यवस्था) मकरंद देउस्कर ने बताया कि हमने होशंगाबाद जिले के पिपरिया कस्बे से तीन संदिग्धों को वाहन जांच के दौरान हिरासत में लिया है। उन्होंने पुष्टि की है कि उन्हें भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में हुए विस्फोट के मामले में हिरासत में लिया गया है। देउस्कर ने यह भी बताया कि इस धमाके को एक आईईडी लगाकर किया गया है।यह पूछे जाने पर कि क्या इस धमाके में किसी आतंकी संगठन का नाम आया है, इस पर उन्होंने कहा कि मैं इस मुद्दे पर इस वक्त कुछ भी बताने के लिए असमर्थ हूं। लेकिन, हमने तीन लोगों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। हालांकि, उनके बारे में उन्होंने और जानकारी देने से यह कहकर मना कर दिया कि इस मामले की जांच चल रही है।इससे पहले पश्चिम रेलवे के रतलाम मंडल के प्रवक्ता जितेन्द्र कुमार जयंत ने बताया कि भोपाल से उज्जैन जा रही पैंसेजर ट्रेन के जनरल कोच में आज सुबह 9.30 से 10 बजे के बीच हल्का धमाका हुआ। मध्य प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह का कहना है कि धमाके में गन पाउडर की गंध आने की खबर है, जिसकी जांच जारी है।मध्यप्रदेश सरकार ने घायलों के लिए 25 हजार और गंभीर रूप से घायल यात्रियों के लिए 50 हजार रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि एसपी कलेक्टर घटनास्थल पर पहुंच चुके है। उन्होंने कहा कि डीजी की देखरेख में एटीएस और फॉरेंसिक की टीमें मामले की जांच में जुटी हैं।दिल्ली रेलवे के पीआरओ अनिल सक्सेना ने बताया कि मामले की जांच कर जा रही है कि यह हादसा किन कारणों से हुआ। आरपीएफ और फॉरेंसिक एक्सपर्ट घटनास्थल पर पहुंच सकते हैं।उन्होंने बताया कि इस धमाके से कुछ रेल यात्री घायल हुए हैं। उन्होंने बताया कि विस्फोट में घायल सात लोगों को कालापीपल के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जयंत ने बताया कि उज्जैन से पश्चिमी रेलवे का मेडिकल राहत वाहन मौके पर पहुंच गया है। भोपाल से दुर्घटना राहत वाहन भी घटनास्थल की ओर रवाना किया गया है।उन्होंने बताया कि ट्रेन में धमाके की वजह का फिलहाल पता नहीं चल सका है। धमाके से जनरल कोच की खिड़कियों के कांच टूट गये और कोच में धुंआ फैल गया। धुंए के कारण रेल यात्रियों में हड़बड़ी मच गयी और सभी तेजी से कोच से बाहर निकल गये। उन्होंने बताया कि जांच के बाद ही धमाके के कारणों के बारे में पता चल सकेगा। एक राहत ट्रेन घटनास्थल की ओर रवाना कर दी गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here