भोपाल: आतंकवादी संगठन आईएस की विचारधारा से प्रभावित तीन युवकों द्वारा भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में सात मार्च को किये गए धमाके की जांच का जिम्मा राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अपने हाथ में ले लिया है.

शाजापुर जिले में जबड़ी रेलवे स्टेशन पर भोपाल से उज्जैन जा रही पैसेंजर ट्रेन के जनरल कोच में किये गये इस धमाके में 10 यात्री घायल हो गये थे.

एनआईए करेगी जांच

एक पुलिस अधिकारी ने आज यहां बताया, ‘ मध्यप्रदेश एटीएस ने इस मामले की जांच से संबंधित दस्तावेज के साथ-साथ केस डायरी एनआईए को कल सौंप दी.’ एनआईए की टीम कल दिल्ली से यहां आई और इस मामले की जांच का जिम्मा लेने के बाद यह दल इस मामले में गिरफ्तार किये गये उत्तरप्रदेश के तीन आरोपियों मोहम्मद दानिश एवं मोहम्मद आतीफ वं सैय्यद मीर हुसैन  से पूछताछ करेगा.

धमाके के कुछ घंटों बाद हुई थी गिरफ्तारी

दानिश एवं आतीफ कानपुर के निवासी हैं, जबकि सैय्यद कन्नौज का रहने वाला है और इन तीनों युवकों को मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले के पिपरिया से धमाके के कुछ ही घंटों बाद गिरफ्तार कर लिया गया था. उनके द्वारा विस्फोट किया गया बम ‘पाइप बम’ था और घटनास्थल पर मिले अवशेष ‘जीआई पाइप’ पर ‘आईएसआईएस नाउ इन इंडिया’ लिखा हुआ था.

तीनों आरोपियों ने पूछताछ के दौरान मध्यप्रदेश पुलिस को बताया था कि वे आतंकवादी संगठन आईएसआईएस की विचारधारा से प्रभावित थे और उन्होंने बम बनाने की कला एक उग्रवादी संगठन की ऑनलाइन मैग्जीन ‘इंस्पायर’ से सीखी थी. इसके अलावा, वे इंटरनेट पर आईएस का साहित्य भी पढ़ते थे.’ भोपाल की एक अदालत ने नौ मार्च को इन तीनों आरोपियों को 23 मार्च तक पुलिस हिरासत में भेजा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here