इस बाबत मीडिया रिपोर्टो को बताया गुमराहकुन
चंडीगढ़, 4 अप्रैल:
पंजाब के सिंचाई और बिज़ली मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने आज राज्य में बिजली दरों में बढ़ौतरी से इंकार करते हुये इस संबंधी मीडिया रिपोर्टो को खारिज़ करते हुये गुमराहपूर्ण बताया। यहां जारी एक बयान में उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा राज्य में किफायती बिज़ली मुहैया करवाने के किये चुनावी वायदे से पीछे हटने का प्रशन ही पैदा नही होता और इस संबंधी मीडिया उनकी रिपोर्टो को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है।
उन्होंने आगे कहा कि पॉवर रैगूलेटर बाबत उनकी टिप्पणीयां बिजली की कीमत संबंधी कमिशन की सिफारिशों के संदर्भ में की गई थी, परंतु किसी भी समय बिजली दरों में बढ़ौतरी का सुझाव नही दिया। उन्होंने और कहा कि ‘पॉवर रैगूलेटर का कार्य विभिन्न हिस्सों की जरूरतों को आगे रखकर सिफारिशे करना होता है परंतु सरकार द्वारा कोई भी फैसला चुनाव घोषणा-पत्र में किये वायदों और लोगों के हितों को केंद्र में रखकर ही किया जायेगा।’ उन्होंने और विवरण देते हुये बताया कि सोमवार को मीडिया से बातचीत के दौरान स्पष्ट तौर पर उन्होंने कहा था कि, ‘हम  कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र में किये वायदे अनुसार घरेलू और व्यवसायिक उपभोक्ताओं को किफायती दरों पर बिजली मुहैया करवाने के लिये कदम उठायेंगे।’
मंत्री ने आगे कहा कि चुनाव घोषणा पत्र में स्पष्ट कहा गया है कि कांग्रेस की सरकार द्वारा राज्य क ी आर्थिकता से जुड़े विभिन्न क्षेत्रों जिनमें घरेलू उपभोक्ता, व्यापार तथा उद्योग भी शामिल हैं, को किफायती दरों पर 24&7 बिजली आपूर्ति यकीनी बनायी जायेगी। घोषणा पत्र में यह भी कहा गया है कि उद्योग जगत के लिये बिज़ली की दरें 5 वर्ष के लिये स्थिर की जायेंगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि चुनाव घोषणा पत्र में किये गये वायदों से किसी भी कीमत पर पीछे नही हटा जायेगा।
उन्होंने और जानकारी देते हुये बताया कि सरकार द्वारा इस समय 5 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिज़ली मुहैया करवाने की उद्योग जगत की मांग पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि,‘हम उद्योगों और राज्य के अन्य क्षेत्रों को किफायती बिज़ली देने और किसानों को निशुल्क बिज़ली प्रदान करना जारी रखने के लिये वचनबद्ध है।’
उन्होंने कहा कि उनके बयान के एक हिस्से को तोड़ मरोड़ कर पेश किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here