नई दिल्ली/शिवसेना सांसद रविंद्र गायकवाड़ और एयर इंडिया के बीच चल रहा विवाद गुरुवार को लोकसभा में छाया रहा। गायकवाड़ लोकसभा में आए और इस मामले में सफाई दी। इसके बाद एयर इंडिया ने एक शर्त रखी है जिसके बाद सांसद की उड़ान सेवा पर लगाए गए बैन को हटाया जा सकता है। वहीं शिवसेना सांसद गायकवाड़ ने एविएशन मिनिस्टर को पत्र भेजकर इस पूरी घटना पर अफसोस व्यक्त किया है।सूत्रों के मुताबिक, एयरलाइंस का कहना है कि अगर सांसद माफी मांगने को तैयार हो जाते हैं तो वह बैन हटाया जा सकता है। इससे पहले एयर इंडिया ने बैन को बरकरार रखने का फैसला किया था।शिवसेना सांसद ने गुरुवार को लोकसभा में कहा था कि मैं संसद से माफी मांगता हूं लेकिन एयर इंडिया के अधिकारी से नहीं। वहीं शिवसेना के सांसदों ने धमकी दी थी कि अगर गायकवाड़ से बैन नहीं हटा तो वो मुंबई से फ्लाइट उड़ने नहीं देंगे।सांसद रवींद्र गायकवाड़ ने लोकसभा में इस पूरे मामले पर अपनी ओर से बयान दिया। उन्होंने कहा कि 23 मार्च 2017 की उस घटना के लिए मैं दिल्ली आ रहा था। मेरा बिजनेस क्लास का टिकट था लेकिन मुझे इकोनॉमी सीट में बिठाया गया। इसके बाद मेरी सीट भी बदल दी गई। दिल्ली में मैंने कंप्लेंट बुक मांगी तो एयरलाइंस के अधिकारियों ने कहा कि उनके पास कोई शिकायत बुक नहीं है। लेकिन मेरी शिकायत एक पेपर पर ले ली। लोकसभा में उन्होंने बताया कि एयर इंडिया के एक अधिकारी ने उनके साथ बदसलूकी की और उन्हें धक्का दिया। इसके बाद उन्होंने उस अधिकारी को धक्का दिया।शिवसेना सांसद ने लोकसभा में कहा कि बिना किसी जांच के इस पूरे मामले का मीडिया ट्रायल किया गया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने अपराध किया वह आराम से घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं संसद से क्षमा मांगता हूं। उन्होंने कहा कि मेरे खिलाफ सभी विमान कंपनियों ने रोक लगाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here