राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच की दो दिवसीय सभा आज से गुरुग्राम में
देश की आंतरिक व बाहरी सुरक्षा पर होगा मंथन
राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी करेंगे उदघाटन

मंजू यादव : गुरुग्राम। युवाओं में देश निर्माण की क्षमता है। युवा वर्ग राष्ट्र की सुरक्षा में अहम भूमिका निभा सकता है। जिसके चलते राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच देश के तमाम शिक्षण केंद्रों, विश्वविद्यालयों में राष्ट्र रक्षा विषय पर युवाओं के साथ संवाद कार्यक्रम का आयोजन करेगा। यह जानकारी राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच के राष्ट्रीय महामंत्री जसबीर सिंह ने 15 अप्रैल से गुरुग्राम में शुरू होने वाली राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच की तृतीय वार्षिक आम सभा की पूर्व संध्या के अवसर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए दी। इस सभा में देश के सभी राज्यों से करीब 300 से अधिक डैलीगेट्स भाग ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि मंच ने इस वर्ष को राष्ट्र रक्षा संकल्प वर्ष के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान विभिन्न सत्रों में मंच द्वारा एक वर्ष तक आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार की जाएगी। जिसमें सबसे अहम राष्ट्र सुरक्षा विषय पर युवाओं से संवाद कार्यक्रम होगा।
इस कार्यक्रम के तहत देश के विभिन्न राज्यों में चल रहे विश्वविद्यालयों, शिक्षण संस्थानों में युवाओं को राष्ट्र सुरक्षा विषय पर एकजुट किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि दो दिवसीय आम सभा का उदघाटन हरियाणा के राज्यपाल महामहिम कप्तान सिंह सोलंकी करेंगे। उदघाटन सत्र में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल सदस्य श्री इंद्रेश कुमार मुख्य वक्ता के रूप में भाग लेंगे, जबकि हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह, भिवानी के सांसद धर्मवीर सिंह तथा नांगल चौधरी के विधायक अभय सिंह बतौर विशिष्ठ अतिथि भाग लेंगे।
जसबीर सिंह ने बताया कि दो दिवसीय कार्यक्रमों के दौरान देश के कई पूर्व न्यायाधीश, पूर्व सैन्य अधिकारी, पूर्व आई.ए.एस. व पूर्व आई.पी.एस.अधिकारी, रक्षा विशेषज्ञ, एडवोकेट, चिकित्सक, समाजिक कार्यकर्ता एवं विषय विशेषज्ञ अमेरिका में तेजी से फैल रहे नस्ली भेदभाव का भारत पर होने वाला असर, रक्षा की दृष्टि से चीन की मौजूदगी का भारत पर असर, राष्ट्रीय सुरक्षा के विषय पर चीन के भारत में बढ़ते हस्तक्षेप को कैसे रोका जाए आदि विषयों पर अपने विचार व्यक्त करेंगे।
मंच की गतिविधियों एवं उपलब्धियों के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कह कि मंच के प्रयासों से ही अंडेमान निकेबार में 30 दिसंबर आजादी दिवस घोषित करवाना है।
राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच की राष्ट्रीय महामंत्री सरला सिंह तथा उत्तर क्षेत्र प्रभारी रेशमा सिंह ने बताया कि आज समूचा देश जहां आतंकवाद से प्रभावित है वहीं आतंकवाद अब अंतरराष्ट्रीय समस्या बन चुका है। भारत में जम्मू-कश्मीर को सर्वाधिक आतंकवाद प्रभावित क्षेत्र माना जाता है। इस सम्मेलन के दूसरे दिन टैरोरिजम को टूरिज़म के माध्यम से पछाड़ने के विषय पर मंच की गतिविधियों को चिन्हित किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच द्वारा दो दिवसीय कार्यक्रमों के दौरान पारित किए गए प्रस्तावों को केंद्र सरकार, राज्य सरकारों तथा संबंधित विभागों को भेजा जाएगा। इस अवसर पर बोलते हुए मंच के प्रदेश अध्यक्ष राजपाल सिंह ने कहा कि इस सम्मेलन के आयोजन में हरियाणा के कार्यकर्ताओं की भूमिका अहम होगी। कार्यक्रम के माध्यम से दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को हरियाणा प्रांत का सांस्कृति के बारे में भी बताया जाएगा।
इस अवसर पर राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच के सचिव प्रवेश खन्ना, संगठन मंत्री गोलोक बिहारी, मीडिया प्रभारी डॉ.वीरेंद्र सिवाच, दीपा आंतिल के अलावा कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here