यमकेश्‍वर (पौड़ी)। योगी आदित्‍यनाथ भले ही हिंदुत्‍व राजनीति के लिए जाने जाते हैं लेकिन पड़ोसी राज्‍य उत्‍तराखंड में उनके द्वारा स्‍थापित डिग्री कॉलेज के मुस्‍लिम प्राध्‍यापक ने बताया कि संस्‍थान ‘निष्‍पक्षता सहिष्‍णुता और मानवता’ का प्रतीक है।
पौड़ी के अपने जिला के यमकेश्‍वर ब्‍लॉक के बिठयानी में योगी आदित्‍यनाथ ने 1999 में महायोगी गुरुगोरखनाथ डिग्री कॉलेज की स्‍थापना की। राज्‍य में भाजपा सरकार के आने के बाद इसे सरकारी सहायता प्राप्‍त स्‍कूलों की लिस्‍ट में दर्ज कर लिया गया।
कॉलेज के प्रिंसिपल आफताब अहमद ने टाइम्‍स ऑफ इंडिया को बताया, ‘कॉलेज की सुंदरता यही है कि जाति, धर्म या रंग के आधार पर यहां भेदभाव नहीं किया जाता। यह पहाड़ों के वातावरण की तरह शुद्ध है।‘ कॉलेज में प्रिंसिपल के ऑफिस में विभिन्‍न स्‍वतंत्रता सेनानियों की तस्‍वीरों के साथ हिंदू भगवानों की भी तस्‍वीर लगी है।
देहरादून के अहमद ने बताया कि 150 विद्यार्थियों वाले इस कॉलेज में अधिकतर लड़कियां हैं और इसे एचएनबी गढ़वाल यूनिवर्सिटी से 2005 में मान्‍यता मिली। इस कॉलेज में देश भर से नेट क्‍वालीफाईड शिक्षकों को नियुक्‍त किया गया है। जिले में इसके अलावा कोई दूसरा डिग्री कॉलेज नहीं है। यहां से 50 किमी की दूरी पर ऋषिकेश में एक डिग्री कॉलेज है।
2014 में कॉलेज के प्रिंसिपल के तौर पर अहमद नियुक्‍त किए गए। अहमद ने बताया, ‘इस कॉलेज का उद्देश्‍य मानवता और सहिष्‍णुता को बढ़ावा देने के साथ युवाओं को बेहतर शिक्षा मुहैया कराना है।‘
योगी के छोटे भाई महेंद्र सिंह बिष्‍ट कॉलेज के एडमिनिस्‍ट्रेटर हैं। बिष्‍ट ने बताया कि कॉलेज में भेदभाव असहनीय है। यह कॉलेज मुस्‍लिम प्रिंसिपल की देख-रेख में है जो सबसे पहले मेरे साथ हर साल होली मनाते हैं और दिवाली के मौके पर साथ दीया जलाते हैं।
कॉलेज में पिछले 8 सालों से इतिहास पढ़ा रहे मुकेश त्‍यागी ने कहा, ‘उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री की व्‍यक्‍तिगत राय कुछ भी हो पर यह कॉलेज इससे प्रभावित नहीं है। इस कॉलेज का उद्देश्‍य शिक्षा का प्रसार करना है।‘

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here