झांसी । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का कार्यभार संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ आज पहली बार बुंदेलखंड दौरे पर थे। झांसी में तमाम सरकारी कार्यालय के दौरे के दौरान उन्होंने बुंदेलखंड की नब्ज टटोलने में सफलता प्राप्त की। मुख्यमंत्री ने बुंदेलखंड को 6 लेन एक्सप्रेसवे से जोड़ने का ऐलान किया।
आज झांसी में उन्होंने सरकारी अस्पताल के साथ ही स्कूल, कोतवाली तथा सरकार के अन्य कार्यालय का जायजा लिया। इस अवसर पर जिला अस्पताल में मरीजों के पास जाकर उनका कुशल क्षेम पूछा।
यह भी पढ़ें: झांसी में आज मुख्यमंत्री योगी करेंगे बुंदेलखंड के विकास की समीक्षा
एक महिला से पूछा की इलाज मिलता है, दवाई मिलती है। एक महिला ने जिला अस्पताल निरीक्षण के दौरान रो-रो कर अपनी पीड़ा सुनाई। सीएम वहां करीब 20 मिनट रुके। जिला अस्पताल में उनके इस सवाल पर पेशेंट ने कहा कि इलाज करवाया है। दवाई मिलती है।इस दौरान एक महिला मरीज से पूछा- कैसी हो। जवाब मिला- अच्छी हूं। इसके बाद उन्होंने डॉक्टर्स से पूछा कि मरीजों के लेटने की व्यवस्था है या नहीं। इसके बाद से इमरजेंसी से हृदय रोग केंद्र में गए। यहां अस्पताल में निरीक्षण के दौरान महेंद्र सिंह कॉलोनी की कुछ महिलाओं ने सीएम से समय से बिजली नहीं आने की शिकायत की। इस पर उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच करवाएंगे।
अस्पताल के बाद मुख्यमंत्री ने झांसी कोतवाली का रुख किया। इसके बाद गल्ला मंडी विक्रय केंद्र पर गेहूं का नमूना देखा। वहां किसानों और कर्मचारियों से बात की। मंडी में उन्होंने किसानों से गेहूं की खरीद और समस्याओं के बारे में पूछा। किसानों ने कहा गेहूं बेचने में उन्हें देरी होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here