नई दिल्ली/जयपुर। राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले के गंगरार इलाके में छह कश्मीरी छात्रों के साथ हुए मारपीट मामले में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सख्ती दिखाई है। उन्होंने सभी राज्य सरकारों से कहा की देश में जहां भी कश्मीरी छात्र हो, उनकी सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। कश्मीरी छात्र भारत के नागरिक है।
इसके साथ ही राजनाथ सिंह ने राज्य सरकारों से कहा कि कोई भी कश्मीरी बच्चों के साथ कहीं भी बदसलूकी करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।गौरतलब है कि 19 अप्रैल की शाम कुछ अज्ञात लोगों ने चित्तौड़गढ़ जिले के गंगरार इलाके में छह कश्मीरी छात्रों के साथ मारपीट की। गंगरार थानाधिकारी दिनेश कुमार ने बताया कि निजी मेवाड़ विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले ये छात्र घरेलू सामान खरीदने गये थे। इसी दौरान अज्ञात लोगों ने उनके नाम और पते पूछने के बाद मारपीट की।घटना के बाद वह लोग बाइक पर बैठकर भाग गये।
कश्मीरी छात्रों को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। छात्रों की शिकायत के आधार पर अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 323 और 341 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। जांच जारी है। मेवाड़ विश्वविद्यालय में जम्मू कश्मीर के करीब आठ सौ विद्यार्थी अध्ययन कर रहे हैं।वहीं उत्तर प्रदेश के मेरठ में कश्मीरियों के खिलाफ होर्डिंग्स लगाए गए हैं। होर्डिंग्स में बकायदा लिखा गया है कि कश्मीरियों उत्तर प्रदेश छोड़ों ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here