फैजाबाद । भारतीय जनता पार्टी से सांसद रहे डॉ. रामविलास दास वेदांती ने आज अयोध्या के विवादित ढांचा मामले को और हवा दे दी है। फैजाबाद में एक प्रेस वार्ता में डॉ. वेदांती ने माना कि विवादित ढांचा उन्होंने तुड़वाया था, इस प्रकरण में पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी जरा भी दोषी नहीं हैं।
अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य और भारतीय जनता पार्टी से दो बार सांसद रहे डॉ. रामविलास दास वेदांती ने बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में बड़ा बयान दिया है।
अयोध्या के संतों का एक प्रतिनिधिमंडल आज जहां लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने आया है, वहीं फैजाबाद में भाजपा के पूर्व सांसद ने बड़ा बम फोड़ा है। डॉ. वेदांती ने कहा कि चाहे मुझे फांसी हो जाये मैं कहूंगा विवादित ढांचा मैंने तोड़ा है तुड़वाया है।
उन्होंने कहा कि अयोध्या में मौजूद कार सेवकों ने मेरे और स्वर्गीय अशोक सिंहल के कहने तथा उकसाने पर विवादित ढांचा को गिराया था। पूर्व भाजपा सांसद डॉ रामविलास दास वेदांती का बयान। बाबरी विध्वंस की भी जिम्मेदारी। कहा मैंने ही तोड़वाया था बाबरी ढांचा। मेरे कहने पर ही कारसेवकों ने गिराया बाबरी ढांचा। मैंने ही कहा था एक धक्का और दो बाबरी को तोड़ दो। महंत अवेद्यनाथ अशोक सिंहल भी तोड़वाने में शामिल थे । लालकृष्ण आडवाणी, डॉ.मुरली मनोहर जोशी व विजयाराजे सिंधिया कारसेवकों को समझाने का प्रयास कर रहे थे ।
पूर्व सांसद डॉ. रामविलास दास वेदांती ने पत्रकार वार्ता में यह दावा किया। साथ ही उन्होंने कहा कि इस प्रकरण में पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी बिल्कुल भी दोषी नहीं हैं, वह तो बेकसूर है। अयोध्या के विवादित ढांचा गिराने की साजिश में सीबीआई जांच में पूर्व सांसद डॉ. रामविलास दास वेदांती को भी शामिल किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here