रोहतक। राेहतक में दो से अधिक राक्षसों ने सोनीपत की युवती से दरिंदगी की थी। पुलिस दो युवकाें द्वारा दुष्कर्म और हत्‍या करने की बात कह रही थी। ले‍किन, फोरेंसिक रिपोर्ट में उसके साथ दो से अधिक लोगों द्वारा दरिंदगी करने की बात कही गई है। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों के मुताबिक ऐसी दरिंदगी का मामला उन्‍होंने नहीं देखा। यह रेयर ऑफ द रेयरेस्ट केस है। दूसरी ओर, युवती की मां छह लोगों के इसमें शामिल हाेने की बात कह रही है।
गिरफ्तार दोनों आरोपी सात दिन कि पुलिस रिमांड पर भेजे गए
उधर, इस मामले में गिरफ्तार आरोपियों को साेमवार को अदालत में पेेश किया गया। अदालत ने उनको सा‍त दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। आज दोनों को सोनीपत की अदालत में पेश किया गया। पुलिस ने उनको पूछताछ के लिए दाेनों का रिमांड मांगा।
युवती को नशीली वस्‍तु खिलाए जाने की पुष्टि
पोस्टमार्टम रिपोर्ट फोरेंसिक विभाग के अध्यक्ष डॉक्टर एसके धत्तरवाल ने पुलिस को सौंप दी है। रिपोर्ट में युवती को नशीली वस्तु खिलाए जाने की पुष्टि हुई है। रोहतक पीजीआइ के फोरेंसिक विभाग के अध्यक्ष एवं हरियाणा सरकार के मेडिको लीगल एडवाइजर डॉक्टर एसके धत्तरवाल ने बताया कि रिपोर्ट में साफ है कि दुष्कर्मियों की संख्या दो से अधिक होने संभावना है। आरोपियों ने युवती के प्राइवेट पाट्र्स को काफी चोट पहुंचाई।
गिरफ्तार आरोपियाें को ले जाकर घटनास्‍थल पर जांच करती पुलिस।
बता दें कि युवती का शव रोहतक में आइएमटी के पास खाली प्‍लाट पर मिला था। पहले उसकी पहचान नहीं हुई अौर बाद में पता चला कि उसको सोनीपत से अगवा कर दरिंदों ने उसे शिकार बनाया। इसके बाद दो आरोपी गिरफ्तार किए गए।
सरकार सख्त हुई तो पुलिस पहुंची घटनास्थल पर
युवती का शव 11 मई को मिला था। देखकर ही लग रहा था कि उसके साथ बर्बरता की गई है। पुलिस और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची, लेकिन किसी ने भी सबूत नहीं जुटाए। जागरण ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल भी खड़े किए। अब तीन दिन के बाद सोनीपत की पुलिस टीम और एफएसएल की टीम पहुंची और मिट्टी, खून व बालों के सैंपल लिए।
जांच जारी, 48 घंटे के अंदर हो जाएगा सारा खुलासा: आइजी
आइजी नवदीप सिंह विर्क ने बताया कि युवती की मां ने इस घटना में छह लोगों के शामिल होने का आराेप लगाया है। इस मामले में गिरफ्तार दोनों अारोपियों से पूछताछ की जा रही है। आइजी ने कहा कि पुलिस आरोपियों द्वारा पूछताछ में बताई गई बातों की सत्यता की पड़ताल भी कर रही है कि वे गुमराह तो नहीं कर रहे। आइजी ने कहा कि अभी जांच चल रही है। अगले 24 से 48 घंटे के अंदर पटाक्षेप कर दिया जाएगा। केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो इसकी अदालत से मांग की जाएगी।
सोनीपत पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठे
दूसरी अोर, पूरे मामले में सोनीपत पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठ रहे हैं। पुलिस जहां वारदात में दो आरोपियों के होने की बात कह रही है वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट में युवती के साथ पांच लोगों द्वारा दुष्कर्म किए जाने की बात सामने आई है। यही नहीं, जब रविवार को पुलिस पकड़े गए दोनों आरोपियों को घटनास्थल पर ले जाने लगी तो वे ठीक से वहां का रास्ता तक नहीं बता पाए। मतलब साफ है कि उनके साथ तीन अन्य स्थानीय दरिंदे भी थे। वैसे भी घटनास्थल इतना दुर्गम है कि एक बार तो जानकार भी पहुंचने में गच्चा खा जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here