पंचकूला। पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा ने कहा है कि आज प्रदेश में बेटियां सुरक्षित नहीं है। यमुनानगर व रोहतक में दुष्कर्म की वारदात बढ़ने से राज्य में लड़कियों का जीना मुहाल हो गया है। प्रेस रिलीज के माध्यम से कुमारी सैलजा ने बच्चियों से रेप करने वालों को तत्काल चार्जशीट करने की मांग की है।
कुमारी सैलजा ने प्रदेश की बिगड़ती व्यवस्था पर सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि यमुनानगर में दो मासूम बच्चियों के साथ दुष्कर्म की वारदात इसका पुख्ता प्रमाण है। बच्चियों से घिनौना अपराध करने वाले आरोपियों के खिलाफ फांसी की सजा तय हो। सैलजा ने सरकार पर बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ अभियान को लेकर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सरकार केवल ऐसे अभियान चलाकर बेटियों को बचाने की बात कह रही है जबकि असली हकीकत कुछ और ही है।

सैलजा ने कहा कि गैंगरेप के बाद रोहतक में लड़की की हत्या के जघन्य अपराध ने हर किसी को झकझोर कर रख दिया है। रेप के बाद युवती जिस तरह से कत्ल किया गया उससे हर बेटी का सिर झुक गया है।
प्रदेश में जंगलराज के हालात : चौधरी
वहीं, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य प्रताप चौधरी ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में दिन प्रतिदिन महिलाओं एवं युवतियों के साथ दुष्कर्म और गैंगरेप की घटनाएं बढ़ रही हैं। जिस कारण महिलाओं का घर से निकला मुश्किल हो गया है। प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगड़ती जा रही है और जंगलराज का माहौल है।
महिलाओं एवं व्यापारियों में असुरक्षा का वातावरण है। शोभा ओझा ने कहा कि राष्ट्रीय अपराध अन्वेषण ब्यूरो के अनुसार वर्ष 2015 में 1070 बलात्कार की घटनाएं हुई। जबकि आज प्रदेश में महिलाओं पर 1890 हमले व 3151 यौन शोषण के मामले दर्ज हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here