कॉमन एरिया की जमीन से रैंप और जनरेटर हटाने को लेकर जीडीए की कार्रवाई सर्वे और नोटिस थमाने तक सिमटकर रह गई है। यही कारण है कि 15 दिन के नोटिस की मियाद काफी पहले पूरी होने के बावजूद जीडीए की तरफ से कोई ठोस कार्रवाई इस दिशा में नहीं की जा रही है।
दरअसल, जीडीए उपाध्यक्ष ने गत सात मई से कॉमन एरिया में बने रैंप ध्वस्त कराने और जनरेटर हटवाने की कार्रवाई शुरू कराई थी। इसी कड़ी में सभी आठ जोन के प्रवर्तन प्रभारियों को कॉमन एरिया की जमीन पर रखे जनरेटर पर नोटिस चस्पा कर 15 दिन में हटाने का समय दिया था।
जीडीए की इस कार्रवाई का शहरवासियों और राजनेताओं ने जमकर विरोध किया। मामला शासन तक पहुंचा, इसी के बाद जीडीए ने बैकफुट पर आते हुए मामले में यू-टर्न ने लिया है। जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मज्ञ ने बताया कि जीडीए की प्रवर्तन टीम ने सरकारी जमीन पर रखे जनरेटर पर नोटिस चस्पा किया है। कुछ लोगों ने जनरेटर भी हटाए है। बाकी लोगों को भी जनरेटर हटाने के निर्देश दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here