भारत के साथ चल रहे ताजा सीमा विवाद के बीच चीन की सेना ने गुरुवार को दावा किया कि उसने भारतीय सीमा के पास तिब्बत में हल्के वजन वाले युद्धक टैंक का परीक्षण किया है।
पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के प्रवक्ता कर्नल वू छियान ने कहा कि 35 टन वजनी टैंक का परीक्षण तिब्बत के मैदानी इलाके में किया गया। वह मीडिया में आई उन खबरों का जवाब दे रहे थे जिनमें कहा गया था कि पीएलए ने नए तरह के टैंक का परीक्षण किया है।
यह पूछे जाने पर कि क्या यह परीक्षण भारत की तरफ लक्षित है तो प्रवक्ता ने कहा, इसका मकसद उपकरण के मानक को परखना है और यह किसी देश के खिलाफ लक्षित नहीं है। वू ने टैंक के बारे में विवरण मुहैया नहीं कराया। लेकिन मीडिया हवाले से कहा गया है कि पीएलए ने तिब्बत में कई नए टैंक ‘जिनकिंग्टन’ तैनात किए हैं।
खबरों में कहा गया कि ये टैंक फायरिंग के मामले में भारत द्वारा तैनात किए गए रूसी टैंक टी-90एस से ज्यादा उन्नत हैं। इस टैंक में 105 मिलीमीटर टैंक गन, 35 मिलीमीटर ग्रेनेड लॉन्चर और 12.7 मिलीमीटर की मशीनगन लगी है। इसमें लगी गन ऊंचाई वाले स्थानों पर स्वत: निशाना लगाने में सक्षम है। लिहाजा ये पहाड़ों पर अभियान के लिए ज्यादा उपयोगी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here