लखनऊ (जेएनएन)। पेंशन, मृतक आश्रित को नौकरी समेत व्यवसायिक बैंकों के समान सुविधाएं देने की मांग को लेकर ग्रामीण बैंक के कर्मचारी हड़ताल पर रहे। ग्रामीण बैंक कर्मियों की हड़ताल से करोड़ों का लेन-देन प्रभावित रहा। इससे ग्राहक निराश लौटे। समझा जाता है कि उत्तर प्रदेश की अर्थ व्यवस्था का 50 फीसदी हिस्सा ग्रामीण बैंकों के जिम्मे है।
तस्वीरों में देखे-जीएसटी के विरोध में यूपी बंद और प्रदर्शन
श्रावस्ती जिले में ग्रामीण बैंकों के कर्मचारियों ने अपनी मांगों के समर्थन में हड़ताल की। कुल 33 बैंक शाखाओं में हड़ताल से ग्रामीण इलाकों के ग्राहकों को निराश होना पड़ा। इससे लगभग तीस करोड़ का लेन-देन प्रभावित हुआ। यहां के बैंककर्मियों ने बहराइच प्रदर्शन में हिस्सा लिया। सीतापुर में इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक ऑफीसर्स एसोसिएशन के तत्वावधान में जिले भर की सभी शाखाओं में हड़ताल के चलते बैंक की सभी 136 शाखाओं पर लेनदेन ठप रहा। यहां करीब दस करोड़ का लेन-देन बाधित हुआ है। हड़ताली बैंक अधिकारियों व कर्मचारियों ने बैंक के क्षेत्रीय कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन कर सभा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here