सीमा क्षेत्र में चीन द्वारा सड़क निर्माण कार्रवाई पर भारत ने गंभीर चिंता जतायी है और कहा कि इससे सुरक्षा संबंधित खतरा पैदा होगा। हालांकि भारत ने चीन को सीमा क्षेत्र में सड़क निर्माण कार्य को गंभीर खतरा बताते हुए यथास्‍थिति को नहीं बदलने का आग्रह किया है।
भारत ने चीन को बताया है कि सिक्‍किम सेक्‍टर के डोकलम में सड़क बनाने के उसके प्रयास से भारत की सुरक्षा मापदंडों के साथ यथास्‍थिति में बदलाव का प्रतिनिधित्‍व करेगा। विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा हाल के चीन की गतिविधियों के प्रति भारत गंभीर है।
बता दें कि इस माह के शुरुआत में चीन ने नाथूला के जरिए कैलाश मानसरोवर यात्रा को रोका था और श्रद्धालुओं को लौटना पड़ा था। भारत चीन और भूटान के बीच डोकलम विवादित क्षेत्र है।
भारत ने उल्लेख किया कि नई दिल्‍ली और चीन ने 2012 में एक समझौता किया था कि भारत, चीन व तीसरे देश के बीच ट्राइ जंक्‍शन बाउंड्री प्‍वाइंट मामला आपसी परामर्श से सुलझाया जाएगा। इसलिए यदि ऐसा कोई प्रयास एक ओर से किया जाता है तो यह समझौते का उल्‍लंघन होगा। इसके अलावा भारत की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारत बातचीत के जरिए सीमावर्ती क्षेत्रों में सभी मुद्दों पर शांतिपूर्ण समाधान के लिए चीन के साथ काम करने को प्रतिबद्ध है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here