चंडीगढ़। दुष्कर्म मामले में गुरमीत राम रहीम के जेल जाने के बाद भी पुलिस सिरसा स्थित डेरे में अंदर नहीं गई है। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक डेरे में हथियारों का जखीरा है जिसमें करीब 200 से अधिक अत्याधुनिक और स्वचालित हथियार हैं। कहा जा रहा है कि सोनीपत और अंबाला सहित विभिन्न नामचर्चा घरों में हथियारों का मिलना तो ट्रेलर है, असली तस्वीर डेरा मुख्यालय में दिखाई देगी। साथ ही प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद डेरे में अभी भी 500 से अधिक कट्टर समर्थक जमे हैं। उधर, डेरा प्रबंधन कमेटी का कहना है कि डेरा के बारे में दुष्प्रचार किया जा रहा है।

बता दें कि सिरसा में डेरा सच्चा सौदा के बाहर सेना और अर्धसैनिक बल तैनात है। पुलिस ने लाइसेंस रखने वाले डेरा प्रेमियों को अल्टीमेटम देते हुए दो दिन का समय दिया है, ताकि वह खुद ही अपने हथियारों को पुलिस के पास जमा करा दें। इसके बाद पुलिस अधिकारी आगे की रणनीति बनाएंगे।

हथियारों का शौकीन डेरा मुखी

अपनी फिल्मों में हवा में एक्शन दिखाने वाला डेरा मुखी असल जिंदगी में भी हथियारों का शौकीन है। डेरे में कई तरह के हथियारों को वह खुद चलाकर दिखाता रहा है। डेरे की पिं्रटिंग प्रेस में लंबे समय तक काम करने वाला साधु गुरदास सिंह पहले ही खुलासा कर चुका कि कैसे गुरमीत ने पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या से पहले खुद अभियुक्तों को निशाना साधने की प्रेक्टिस कराई थी।

बिजली-पानी का कनेक्शन काटा पर सोलर सिस्टम व ट्यूबवेल ने फेरा पानी

अभी तक डेरे से करीब दस हजार लोग बाहर आ चुके, जबकि मैनेजमेंट से जुड़े करीब 500 कट्टर समर्थक अंदर जमे हैं। प्रशासन ने डेरे की बिजली-पानी काटकर इन लोगों को बाहर निकालने का प्रयास किया, लेकिन सोलर सिस्टम और ट्यूबवेल होने के कारण योजना फेल हो गई।

कार्रवाई में देरी पर उठ रहे सवाल

डेरे के बाहर घेरा डाली सेना और सुरक्षा बलों को अभी तक अंदर जाने की अनुमति नहीं मिली है। ऐसे में फाइनल कार्रवाई में देरी पर सवाल उठने लगे हैं। हालांकि डीजीपी बीएस संधू का कहना है कि यहां से शांतिपूर्वक तरीके से लोगों को बाहर निकाला जा रहा है। कोशिश है कि टकराव की स्थिति से बचते हुए डेरे को पूरी तरह खाली करा लिया जाए। डेरे में हथियारों की आशंका जताते हुए उन्होंने कहा कि पंचकूला में मिले हथियारों को वैज्ञानिक जांच के लिए भेजा गया है। खुफिया रिपोर्ट के आधार पर आगे की योजना बनाई जा रही है।

डेरा के संबंध में हो रहा दुष्प्रचार : विपसना

सिरसा : डेरा प्रबंधन समिति की चेयरपर्सन विपसना इंसां ने कहा कि डेरा के संबंध में शरारती तत्वों की ओर से अफवाहें फैलाकर दुष्प्रचार किया जा रहा है। अब जेल भरो आंदोलन व डेरा की गद्दी को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं आम हो गई हैं।

शनिवार को जारी बयान में चेयरपर्सन विपसना इंसां ने कहा कि डेरा में अभी कोई सत्संग, मजलिस या किसी भी प्रकार का कोई कार्यक्रम नहीं है, इसलिए लोग अपने घरों में ही रहें और अफवाहों से बचें। उन्होंने कहा कि अभी डेरा सच्चा सौदा द्वारा उत्तराधिकारी घोषित करने के बारे में बहुत सी अफवाहे फ़ैल रही है, ऐसी अफवाहों से बचें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here