भोपाल। राजधानी के बड़वई में आईटी पार्क के साथ बन रहे इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफेक्चरिंग कलस्टर (ईएमसी) में जल्द ही चिप और माइक्रो एसडी कार्ड जैसे कई इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद बनाए जाएंगे। इसके लिए प्रशासनिक भवन का निर्माण पूरा हो चुका है। यहां करीब 10 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। यहां सबसे पहले एलईडी लाइट बनाने वाली ग्रीन सर्फर कंपनी ने अपना काम भी शुरू कर दिया है। यह कंपनी एलईडी पैनल, इंडोर, आउटडोर एलईडी लाइट सहित अन्य कई प्रकार की बिजली की बचत करने वाली लाइट्स बना रही है।

अभी कंपनी असेंबलिंग का काम कर रही है। जल्द ही कंपनी मैन्युफेक्चरिंग का काम भी शुरू कर देगी। अगले साल तक चीन, जापान के बाद भोपाल में भी कई उपयोगी इलेक्ट्रानिक आइटम की मैन्युफैक्चरिंग शुरू हो जाएगी। ईएमसी में 28 कंपनियों के लिए जगह निर्धारित की गई है। यहां हर तरह के इलेक्ट्रॉनिक आइटम की मैन्युफैक्चरिंग होगी। करीब 20 कंपनियों से अनुबंध हो चुका है। अगले साल तक इनके दफ्तर ईएमसी में आ जाएंगे।

125 करोड़ रुपए है लागत

आईटी पार्क का निर्माण मप्र स्टेट इलेक्ट्रॉनिक्स डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (एमपीएसईडीसी) लिमिटेड की योजना के तहत हो रहा है। हाउसिंग बोर्ड द्वारा यहां आईटी पार्क के लिए प्लाट विकसित किए जा रहे हैं और कंपनियों के ऑफिस तैयार हो रहे हैं। यह पूरा प्रोजेक्ट 125.26 करोड़ रुपए की लागत से 212 एकड़ जमीन में तैयार हो रहा है। इसमें से 70 एकड़ जमीन पर आईटी पार्क का प्रशासनिक भवन तैयार हो रहा है, जिसका काम 90 फीसदी पूरा हो चुका है। इस आईटी पार्क में आने के लिए 20 कंपनियां पहले ही सहमति दे चुकी हैं। आईटी पार्क में ये कंपनियां अगले साल से अपना काम भी शुरू कर देंगे। एक कंपनी ने अपना काम शुरू कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here