नई दिल्ली। स्टार इंडिया ने आइपीएल के पांच साल के प्रसारण अधिकार 16347.5 करोड़ रुपये में खरीद लिए हैं और यह क्रिकेट इतिहास में प्रसारण अधिकारों की सबसे बड़ी डील है। लेकिन वैश्विक खेलों के प्रसारण अधिकारों के अब तक हुए करारों के सामने यह कहीं नहीं ठहरती है। अमेरिका में होने वाली नेशनल फुटबॉल लीग (एनएफएल) को प्रसारण के तौर पर मिलने वाली रकम आइपीएल की अपेक्षा करीब नौ गुना अधिक है।

अगर विश्व स्तर पर खेलों के प्रसारण अधिकार के सबसे बड़े करार की बात करें तो एनएफएल का पहला नंबर आता है। यूएस नेटवर्क्‍स सीबीएस, फॉक्स, एनबीसी और ईएसपीएन चैनल ने इसके लिए नौ साल (2014 से 2022 तक) का करार 39.6 बिलियन डॉलर (करीब 253440 करोड़ रुपये) में किया था। इस मामले में नेशनल बास्केटबॉल लीग (एनबीएल) का नंबर आता है।

फुटबॉल की प्रीमियर लीग, मेजर लीग बेसबॉल का नंबर आता है। फुटबॉल की अन्य लीगों बुंडिसलीगा, सीरी-ए और ला-लीगा के प्रसारण अधिकार की वार्षिक रकम आइपीएल से ज्यादा बैठती है। आइपीएल के पांच साल के करार में भारत, भारत से बाहर, ऑनलाइन और अन्य प्रसारण शामिल हैं।

आइपीएल के पिछले साल के प्रसारण अधिकारों के मुकाबले 258 फीसदी ज्यादा है। दुनिया के क्रिकेट के बड़े करारों की तुलना में स्टार ने सबको पीछे छोड़ दिया है। इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और भारत के क्रिकेट बोर्डो ने अपनी टीमों के वार्षिक मैचों के लिए जो प्रसारण करार किए हैं, उसके कुल धन से ज्यादा रकम स्टार आइपीएल के लिए बीसीसीआइ को देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here