चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपसना ने कहा कि हनीप्रीत का 25 अगस्त के बाद से डेरे से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि हनीप्रीत को कानून का सम्मान करते हुए समर्पण कर देना चाहिए। साथ ही विपसना ने उन अफवाहों का भी खंडन किया जिसमें कहा जा रहा है कि राम रहीम के उत्तराधिकारी को चयन किया जा रहा है।

एक निजी टीवी चैनल को दिए गए साक्षात्कार में विपसना ने कहा कि डेरे के प्रमुख गुरमीत राम रहीम ही रहेंगे। उन्होंने लोगों को अफवाहों पर ध्यान न देने को कहा। डेरे की जांच पर उन्होंने कहा कि अभी तक प्रशासन ने डेरे की जांच नहीं की। उन्होंने प्रशासन से कहा है कि वह जब चाहे डेरे की जांच कर सकता है।

डेरे के अंदर से मिल रहे हथियारों के बारे में विपसना ने कहा कि डेरे के अंदर कुछ लोगों के पास लाइसेंसी हथियार थे, जिन्हें धारा 144 लगने के बाद जमा कराया गया है। ये वही हथियार हैैं। डेरे में हथियारों का जखीरा होने जैसी कोई बात नहीं है। प्रशासन जब चाहे डेरे की जांच कर सकता है।

जब विपसना से पूछा गया कि डेरे में जो बच्चे पढ़ रहे थे वे अब प्रशासन के निर्देश पर बाहर जा रहे हैैं। उनके भविष्य को लेकर क्या होगा। इस पर उन्होंने कहा कि प्रशासन उन्हें सुरक्षा की दृष्टि से ले गया है। प्रशासन ने कहा कि जब डेरे का काम रूटीन में चल पड़ेगा तो बच्चे भी वापस आ जाएंगे।

कमांडो द्वारा राम रहीम को भगाने की साजिश रचने जैसे आरोपों पर विपसना ने कहा कि ऐसी कोई साजिश नहीं थी। राम रहीम कानून का पूरा सम्मान करते हैैं। वह खुद पंचकूला में सीबीआइ कोर्ट में पेश होने गए। इसके बाद कोर्ट ने उन्हें जेल भेजा तो वह गए। राम रहीम की गुफा के संबंध में विपसना ने कहा कि जैसा प्रचारित किया जा रहा है ऐसा कुछ नहीं है। गुफा तक आम डेरा प्रेमी जाते थे। वहां प्रतिमाह सत्संग होता था। गुफा में तीन लाख लोग सत्संग सुनते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here