नई दिल्ली। रोलैंट ओल्टमैंस की जगह लेने के प्रबल दावेदार माने जा रहे विश्व कप विजेता जूनियर हॉकी टीम के कोच हरेंद्र सिंह ने सीनियर पुरुष टीम के कोच के लिए आवेदन करने की तैयारी कर ली है। उनका मानना है कि इस भूमिका के लिए वह सर्वश्रेष्ठ विकल्प हैं।

2009 से 2011 तक राष्ट्रीय सीनियर पुरुष टीम के कोच रहे हरेंद्र का मानना है कि उनकी उपलब्धियां विदेशी कोचों के बराबर हैं और हॉकी इंडिया के लिए उनके आवेदन की अनदेखी करना मुश्किल होगा। हरेंद्र ने कहा, ‘हां, मैं निश्चित तौर पर आवदेन करूंगा। लेकिन मैं पूरी तैयारी के बाद अपना आवेदन सौंपूंगा। मैं जिम्मेदारी संभालने का इच्छुक हूं और मैं दावा करता हूं कि देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतरूंगा। मेरे पास कोचिंग का 21 साल का अनुभव है और मैं 2020 के लिए खाका तैयार करूंगा। मेरा लक्ष्य हमेशा किसी भी टूर्नामेंट में पदक जीतना होता है, क्योंकि मैं देशभक्त हूं और हमेशा तिरंगे को सबसे ऊंचा देखना चाहता हूं।

ओल्टमैंस को बर्खास्त करने के तीन दिन बाद हॉकी इंडिया ने मुख्य कोच के लिए अपनी वेबसाइट पर आवेदन मंगवाए हैं। बीसीसीआइ की तर्ज पर हॉकी इंडिया ने वेबसाइट पर पहली बार विज्ञापन दिया है। विज्ञापन के अनुसार मुख्य कोच को 31 दिसंबर, 2020 टोक्यो ओलंपिक तक का कार्यकाल दिया जाएगा, बशर्ते छह महीने के प्रोबेशन में उसका काम संतोषजनक हो। मुख्य कोच हॉकी इंडिया के हाई परफार्मेंस निदेशक डेविड जॉन, सीईओ एलिना नॉर्मन और नियोक्ता भारतीय खेल प्राधिकरण को रिपोर्ट करेगा। योग्य उम्मीदवार को ईमेल के जरिये अपना आवेदन 15 सितंबर तक हॉकी इंडिया के सीईओ को भेजना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here