सिरसा। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने सिरसा के डेरा सच्‍चा सौदा में तलाशी की मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही अब अब डेरे में तलाशी अभियान शुरू हो जाएगा। सबसे पहले बुलेटप्रूफ गाडि़यों में पुलिस और अर्द्ध सैनिक बलों के जवान अंदर जाएंगे। अर्द्ध सैनिक बलों के जवान और हरियाणा पुलिस के कमांडो अब किसी समय डेरा सच्चा सौदा में प्रवेश कर सर्च अभियान शुरू कर देंगे।

आज करीब चार बजे हाई कोर्ट ने हरियाणा सरकार की याचिका पर सुनवाई करते हुए सच्चा सौदा में तलाशी के लिए अनुमति दे दी। हाईकोर्ट ने पूरी कार्रवाई के लिए रिटायर्ड सेशन जज एसके पंवार को कमिश्नर नियुक्त किया है। इससे पहले प्रदेश भर से बुलाए गए पुलिस बल, हरियाणा पुलिस के विशेष कमांडो दस्ते और बम निरोधक दस्ते को कार्रर्वाई के लिए तैयार कर रखा गया था। डेरा के आसपास के क्षेत्र में कर्फ्यू में आज एक घंटे की ही ढ़ील दी गई। पूरा क्षेत्र सील कर दिया गया है।

हरियाणा पुलिस के कमांडो व अर्द्ध सैनिक बलों के जवान मुस्‍तैद, हेलीकाप्‍टर से रखी जाएगी निगरानी

तलाशी अभियान हाई कोर्ट के आदेश के बाद शुरू होगी। इसके लिए हरियाणा सरकार ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर रखी थी। बताया जाता है कि तलाशी के लिए सबसे पहले बुलेटप्रूफ गाडि़यों में पुलिस और अर्द्ध सैनिक बलों के जवान अंदर जाएंगे। पूरी कार्रवाई की हवाई निगरानी भी की जाएगी और इसी दौरान हेलीकाप्‍टर ऊपर चक्‍कर लगाते रहेंगे।

हरियाणा पुलिस के कमांडो कभी भी डेरे में हो सकते हैं दाखिल

डेरे में सर्च ऑपरेशन चलने की चर्चाएं काफी दिनों से चल रही हैं। सोमवार को देर शाम से डेरे के इर्द-गिर्द अर्द्ध सैनिक बलों और हरियाणा पुलिस के जवानों ने मोर्चा संभाल लिया। मंगलवार को भी सुबह से ही जवान मोर्चा संभाले हुए हैं। हरियाणा पुलिस के कमांडो भी वहां तैनात हैं। बम निरोधक दस्‍ते भी वहां डेरे के बाहर मौजूद हैं।

पूरे क्षेत्र की नाकेबंदी कर दी गई है। डेरा के पास के तीन गांवों और डेरे के आसपास के क्षेत्र में जारी कर्फ्यू मं भी आज सुबह एक घंटे की ही छूट दी गई। इससे पहले दिन के समय में कर्फ्यू में ढ़ील दी जा रही थी। पूरे क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा है और चप्‍पे-चप्‍पे पर पुलिस व अर्द्ध सैनिक बलों के जवान तैनात हैं। बताया जाता है कि डेरा में तलाशी अभियान के लिए कोर्ट के आदेश का इंतजार है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, डेरा प्रेमी शांत बैठे हैं लेकिन पुलिस उन्‍हें हल्के में नहीं ले रही है। पुलिस को आशंका है कि डेरे में सर्च अभियान चलाने के लिए घुसने वाले पुलिस दस्ते पर पेट्रोल बम या अन्य विस्फोटक से हमला हो सकता है। पुलिस को जमीन के भीतर माइन से हमला होने का भी संदेह है। इसलिए मधुबन स्थित अन्य रेंज पर हमेशा तैनात रहने वाले बम निरोधक दस्ते बुलाए गए हैं।

गौरतलब है कि डेरा की चेयरपर्सन विपसना इंसां ने एक दिन पहले ही डेरे की तलाशी के लिए तैयार होेने की बात की थी। माना जा रहा है कि इसके बाद सरकार ने हरियाणा पुलिस को डेरे में सर्च अभियान शुरू करने की तैयारी की।

सिरसा में तलाशी अभियान आैर सुरक्षा के लिए भारी संख्‍या में सेना, पुलिस बल आैर अर्द्ध सैनिक बलों के जवान तैनात हैं। सिरसा में सुरक्षा के लिए 40 कंपनियां लगाई गई हैं। इनमें सीअारपीएफ की 20 कंपनियां और सेना की 12 कपंनियां शामिल हैं। इसके साथ की हरियाणा पुलिस के जवान व कमांडो के संग बम निरोधक दस्‍ते भी डेरा के पास तैनात हैं।
डेरा करेगा प्रशासन का पूरा सहयोग

उधर, डेरे की चेयरपर्सन विपसना ने कहा कि 25 अगस्त के बाद से हनीप्रीत का डेरे से कोई संबंध नहीं हैं। उन्होंने यह भी कहा कि डेरा प्रशासन को पूरा सहयोग कर रहा है। हाई कोर्ट द्वारा सर्च आपरेशन चलाए जाने के आदेशों के बाद डेरा प्रशासन का पूरा सहयोग करेगा।

डेरा मुख्यालय से ‘कुछ’ मिलने पर संदेह

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट की मंजूरी के बाद भले ही कोर्ट कमिश्नर की देखरेख में चलाए जाए, लेकिन डेरा में कुछ खास मिलने की संभावना कतई नजर नहीं आ रही है। डेरे के बाहर दस किलोमीटर के दायरे में सेना और अर्द्ध सैनिक बलों के जवा भले ही तैनात हैं, लेकिन गुरमीत के जेल जाने के बाद से यहां से काफी कुछ इधर-उधर किया जा चुका है।

डेरा सच्चा सौदा की तलाशी के मामले में सरकार ने बड़ी ही चतुराई से काम लिया है। यदि डेरे में सेना या पुलिस बिना किसी कंट्रोल के घुस जाती तो राजनीतिक व सामाजिक नुकसान होने की आशंका थी। अब सब कुछ हाईकोर्ट की देखरेख में चलेगा तो सरकार पर अधिक अंगुली नहीं उठेगी।
कोर्ट कमिश्नर की सुरक्षा का जिम्मा सरकार को
पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट की पूर्ण ने कोर्ट कमिश्नर अनिल कुमार सिंह पंवार की सुरक्षा की जिम्मेदारी हरियाणा सरकार को सौंपी है। उन्हें इस कार्य के लिए जरूरी स्टाफ और सुरक्षा बल मुहैया कराना भी सरकार का दायित्व होगा।

हेलीकॉप्टर से रहेगी डेरे पर निगाह

बुलेटप्रूफ गाडिय़ों में पुलिस और अर्द्ध सैनिक बलों के जवान अंदर जाएंगे। हरियाणा पुलिस के विशेष कमांडो दस्ते और बम निरोधक दस्ते को कार्रवाई के लिए तैयार कर रखा गया है। हेलीकाप्टर से डेरे की सुरक्षा पर नजर रखी जाएगी।

ताले खोलने के लिए 22 मैकेनिकों की टीम

डेरा सच्चा सौदा में तलाशी की मंजूरी मिलते ही पुलिस ने ताले तोड़ने के लिए 22 मैकेनिकों को बुलाया । कमिश्नर नियुक्त किए गए रिटायर्ड सेशन जज की देखरेख में डेरे के सभी गुप्त ताले तोड़े जाएंगे। डेरे में गुफा और कई गुप्त कमरे होने की चर्चा सालों से है।

700 एकड़ में फैला डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय

सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय करीब 700 एकड़ में फैसला है। इस विशाल परिसर में कई संस्थान भी संचालित हैैं। परिसर के बाहर भी कुछ संस्थान है। हरियाणा में डेरा मुख्यालय और अन्य डेरा व नाम चर्चा घर मिलाकर कुल 134 परिसर हैं।

सर्च अभियान के लिए जींद से बुलाए 32 अफसर

डेरा सच्चा सौदा में सर्च अभियान के लिए हाईकोर्ट की मंजूरी मिलते ही हिसार रेंज के आइजी ने जोन के सभी जिलों से जांच अधिकारियों को सिरसा में ड्यूटी पर भेजने के निर्देश दिए हैं। जींद से करीब 32 जांच अधिकारियों के नाम फाइनल किए गए हैं। इससे पहले 25 अगस्त को भी डेरा प्रमुख राम रहीम को सिरसा से पंचकूला सीबीआइ कोर्ट में पेशी पर ले जाने के लिए जींद के एसपी डॉ. अरुण सिंह की स्पेशल ड्यूटी लगाई गई थी।

डेरा कर रहा सरकार का सहयोग : सीएम

” डेरा सच्चा सौदा की तरफ से पूरा सहयोग किया जा रहा है। सिरसा मुख्यालय के लोगों ने सरकार को पूरा सहयोग करने की बात कही है। इसलिए उम्मीद है कि सब कुछ ठीक रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here