नई दिल्ली। काले धन को सफेद बनाकर दिल्ली के बिजवासन में खरीदे गए मीसा भारती और उसके पति शैलेश कुमार का फार्म हाउस जब्त हो गया है। फार्म हाउस खरीदने के लिए मीसा ने फर्जी कंपनियों का इस्तेमाल कर काले धन को सफेद किया था। मीसा लालू यादव की बड़ी बेटी व राजद सांसद हैं।

मीसा के काले धन से खरीदे गए फार्महाउस का पर्दाफाश जैन भाइयों (सुरेंद्र जैन और वीरेंद्र जैन) की गिरफ्तारी के बाद हुआ। दोनों भाइयों के खिलाफ ईडी 8000 करोड़ के मनी लांडिंग की जांच कर रही थी। इनसे पता चला कि मीसा के लिए भी 1.20 करोड़ रुपये के काले धन को सफेद किया था।

इसके लिए चार्टर्ड एकाउंटेंट शैलेश अग्रवाल की सेवाएं लीं थीं। जैन भाइयों ने ईडी के सामने स्वीकार किया कि 1.20 करोड़ सफेद बनाने के लिए 90 लाख रुपये नकद दिये गए थे।

इसके बाद जैन भाइयों ने चार फर्जी कंपनियों के मार्फत मीसा और शैलेश कुमार की कंपनी मिशेल पैकर्स एंड प्रिटंर्स के 1,20,000 शेयर 100 रुपये के प्रति शेयर के हिसाब से खरीद लिए। यानी शेयर खरीदने के लिए जैन भाइयों ने मीसा और शैलेश कुमार को 1.20 करोड़ चेक से भुगतान किया, जबकि, मीसा ने नकद भुगतान किया था और बाद में 10 रुपये प्रति शेयर के भाव से 12.20 लाख रुपये में सारे शेयर वापस खरीद लिए गए।

इस तरह से उनका लगभग 1.8 करोड़ रुपये का कालाधन सफेद हो गया। इसी पैसे से बाद में मीसा ने बिजवासन का फार्महाउस खरीदा था।

ईडी ने मनी लांडिंग रोकथाम कानून के तहत इसे जब्त कर लिया है। मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के मामले में फंसी लालू प्रसाद यादव की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने एक और बड़ी कार्रवाई की है। मंगलवार को ईडी ने दिल्ली स्थित बिजवासन में मौजूद फॉर्म हाउस सील कर दिया है। मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत इसे सील किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here