सिरसा। यहां डेरा सच्‍चा सौदा में तलाशी अभियान जारी है। पूरे डेरे को अर्द्ध सैनिक बलों और पुलिस ने अपने कब्‍जे में लिया हुआ है। सर्च अॉपरेशन के लिए सबसे पहले बुलेटप्रूफ वाहनों में अर्द्ध सैनिक बलों के जवान अंदर गए और उसके बाद स्‍वैट कमाडों व पुलिस की टीमें डेरे में गईं। सर्च ऑपरेशन में 50 टीमें जुटी हुई हैं। इसके अलावा 10 टीमों को रिजर्व रखा गया है। सेना की चार कंपनियां डेरा के बाहर सुरक्षा को संभाल रही हैं। हाई कोर्ट द्वारा नियुक्त कोर्ट कमिश्नर रिटायर्ड जज एकेएस पंवार पूरे ऑपरेशन की निगरानी कर रहे हैं। अॉपरेशन की शुरूआत सुबह सवा सात बजे नए डेरे से हुई और अब यह पुराने डेरे में भी चल रहा है।

सर्च आॅपरेशन की कमान जम्‍मू-कश्‍मीर में पत्‍थरबाजों से निपटने में माहिर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के प्रशिक्षित जवान संभाल रहे हैं। सर्च अॉपरेशन के लिए डेरे के क्षेत्र को कई सेक्‍टरों में बांटा गया है। प्रत्येक सेक्टर के लिए अलग-अलग डयूटी मजिस्ट्रेट व सर्च टीम लगाई गई है। एक टीम में 60 सदस्य हैं। प्रत्येक टीम के साथ एक जनप्रतिनिधि व बैंक अधिकारी भी मौजूद हैं। सर्च अभियान की पूरी वीडियोग्राफी हो रही है। सुरक्षा पुख्ता करने के लिए घुड़सवार पुलिसकर्मी भी तैनात हैं।

छह एसपी शामिल हैं अभियान में

डेरे में सर्च आॅपरेशन में छह पुलिस अधीक्षक भी मौजूद हैं। ये हैं सिरसा के पुलिस अधीक्षक अश्विन शैणवी, फतेहाबाद के एसपी कुलदीप सिंह, जींद के एसपी डॉ. अरुण सिंह, भिवानी के एसपी सुरेंद्र भौरिया के अलावा गुडग़ांव के डीसीपी दीपक गहलावत और फरीदाबाद के डीसीपी वीरेंद्र विज।

प्रशासन की ओर से सर्च अभियान के लिए क्रेन व जेसीबी भी मंगवाई गई है। अभियान के दौरान डेरे में अगर किसी चीज को खोदने या तोड़ने की जरूरत पड़ी तो जेसीबी की मदद ली जाएगी। इसके अलावा किसी चीज को नीचे उतारने, ऊपर भिजवाने या एक स्थान से उठाकर दूसरे स्थान पर रखने के लिए क्रेन का इस्तेमाल किया जाएगा।
पूरे राज्‍य में अलर्ट

डेरा में चल रहे सर्च ऑपरेशन के मद्देनजर पूरे हरियाणा अलर्ट किया गया है। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए राज्य में मौजूद अर्द्धसैनिक बलों के साथ सभी संवेदनशील जिलों में पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है। डीजीपी बीएस संधू अफसरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर हालात का जायजा ले रहे हैं।

इंटरनेट सेवा बंद होने की संभावना

दूसरी ओर, संभावना जताई जा रही है कि सिरसा और अासपास के जिलों में इंटरनेट सेवा खासकर मोबाइल इंटरनेट सेवा फिलहाल बंद की जा सकती है। हालांकि, इस बारे में अभी प्रशासन की ओर कुछ नहीं कहा गया है। यह कदम किसी तरह की अफवाह को रोकने के मद्देनजर उठाने जाने की संभावना है।

हाईकोर्ट द्वारा नियुक्‍त कोर्ट कमिश्‍नर एकेएस पंवार बृहस्‍पतिवार काे दोपहर बाद सिरसा पहुंचे। उन्‍होंने प्रशासनिक और पुलिस अफसरों के साथ बैठक की। उन्‍होंने अर्द्ध सैनिक बलों और सेना के अफसरों के साथ भी बैठक की। इन बैठकों में डेरा सच्‍चा सौदा में सर्च अॉपरेशन की रणनीति बनाई गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here