हैती, एएफपी/रायटर। कैरेबियाई द्वीप से शुक्रवार को ‘इरमा’ तूफान गुजर गया, लेकिन इसके पहले इसने बड़े पैमाने पर तबाही मचाई है। इसके चलते यहां कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई है। अब यह चक्रवाती तूफान अमेरिका की ओर बढ़ रहा है। अमेरिका में दस लाख लोगों को घर खाली करने के लिए कहा गया है।

रेड क्रास ने बताया है कि ‘इरमा’ से अब तक 12 लाख लोग प्रभावित हुए हैं, लेकिन यह संख्या बढ़कर 2.6 करोड़ तक पहुंच सकती है। प्यूर्टो रिको में कम से कम दो लोगों की मौत हुई है, जबकि तीस लाख बिना बिजली के रह रहे हैं। वाशिंगटन में केंद्रीय आपात प्रबंधन एजेंसी (एफईएमए) ने बताया कि ‘इरमा’ का लगातार खतरा बना हुआ है। यह फ्लोरिडा या दक्षिण अमेरिकी प्रांतों में तबाही ला सकता है। एफईएमए के प्रमुख ब्रोक लांग ने कहा, ‘पूरे दक्षिण पूर्वी अमेरिका को इस पर ध्यान देने की जरूरत है। यह वाकई विनाशकारी होगा।’ अमेरिका के वर्जिन आइलैंड में चार लोगों की मौत हो गई है।

‘इरमा’ के बाद ‘जोश’ का संकट बरकरार
अमेरिकी मौसम विभाग ने ‘इरमा’ जैसे एक और खतरनाक तूफान ‘जोश’ के आने की भविष्यवाणी की है। राष्ट्रीय तूफान केंद्र ने बताया कि लीवर्ड द्वीप के 670 किमी पूर्व अटलांटिक महासागर में यह ‘बेहद खतरनाक’ तूफान उठा है। इसकी रफ्तार 240 किमी प्रति घंटे की थी, लेकिन पश्चिम-उत्तरपश्चिम की ओर मुड़ने के कारण की गति 30 किमी प्रति घंटे रह गई है। शनिवार को यह उत्तरपूर्व लीवर्ड द्वीप के पूर्व या उसके पास से गुजरेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here