बेंगलुरु, पीटीआइ। पत्रकार गौरी लंकेश के हत्यारों का सुराग देने वाले को सरकार दस लाख रुपये बतौर इनाम देगी। कर्नाटक सरकार ने ये घोषणा की है। पुलिस ने गुरुवार को लोगों से अपील की थी कि इस हत्याकांड के बारे में कुछ भी पता है तो उसे बताए। इसके लिए एक ईमेल आइडी व फोन नंबर भी जारी किया गया है। इसके एक दिन बाद ही गृह मंत्री रामालिंगा रेड्डी ने दस लाख के इनाम की घोषणा की है।

गृह मंत्री का कहना है कि मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने निर्देश दिया है कि जांच का काम तेजी से किया जाए। एसआइटी में पर्याप्त संख्या में पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। उनका कहना है कि जरूरत पड़ी तो और ज्यादा मुलाजिम टीम को दिए जाएंगे। रेड्डी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने एसआइटी के प्रमुख बीके सिंह के साथ एक बैठक भी की। इसमें डीजीपी आरके दत्ता, डीजी (खुफिया) एएम प्रसाद भी मौजूद रहे।

रेड्डी ने बताया कि जांच टीम से कहा गया है कि भाजपा विधायक जीवराज को बुलाकर पूछताछ की जाए। उन्होंने गुरुवार को पत्रकार को लेकर विवादास्पद बयान दिया था। रेड्डी का कहना है कि विधायक से पूछा जाएगा कि उन्होंने इस तरह का वक्तव्य क्यों दिया था। रेड्डी का कहना है कि यह बात अखरने वाली है कि गौरी लंकेश की हत्या के बाद न तो कोई भाजपा नेता उनके घर गया, न ही शमशान घाट पर।

अमेरिका में भी मामले की चर्चा
गौरी लंकेश की हत्या को लेकर अमेरिकी कांग्रेस में भी चर्चा की गई। दक्षिण व मध्य एशिया के मामलों को सहायक सचिव एलिस वेल्स ने एक उप समिति में कहा कि मामला वाकई हतप्रभ करने वाला है। पत्रकार की हत्या लोकतंत्र के लिए शर्मनाक है, लेकिन उन्हें उम्मीद है कि भारत इससे जल्दी उबर जाएगा और लोकतंत्र वहां और ज्यादा मजबूत होगा। इंडियन नेशनल ओवरसीज कांग्रेस ने कहा कि लगता है कि एक प्रभावशाली आवाज को दबाने की साजिश पहले ही रच ली गई थी। यूनेस्को की महानिदेशक इरिना बोकोवा ने कहा कि भारत इस मामले का पर्दाफाश जल्द करे, क्योंकि प्रैस पर हमले का मतलब मूलभूत अधिकारों के हनन का प्रयास है।

केंद्र को मिली राज्य से रिपोर्ट
55 वर्षीय महिला पत्रकार की हत्या के मामले में राज्य सरकार ने विस्तृत रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेज दी है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कर्नाटक सरकार से रिपोर्ट गुरुवार को तलब की थी। मुख्य सचिव ने केंद्र सरकार को घटना के बारे में बताया और आश्वस्त किया कि एसआइटी मामले की जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here