भोपाल। मानसून की बेरुखी के कारण इस वर्ष अगस्त में अपेक्षाकृत बरसात नहीं हुई। उधर, बरसात के सीजन का अंतिम माह सितंबर का पहला सप्ताह भी सूखा बीत गया। राजधानी में अभी तक सामान्य से 40 सेमी. बरसात हुई है। इससे सूखे का संकट मंडराने लगा है। शुक्रवार को दिन का अधिकतम तापमान 33.7 डिग्रीसे. तक पहुंच गया, जो सामान्य से 4 डिग्रीसे. अधिक है। साथ ही गुरुवार (32.4) के मुकाबले 1.3 डिग्रीसे. अधिक है। तापमान बढ़ने से उमस ने लोगों को बेचैन कर दिया है।

पर्याप्त पानी नहीं गिरने के कारण प्रदेश के कई जिलों पर सूखे का साया मंडराने लगा है। कम पानी वाले प्रमुख दस जिलों में राजधानी भी शामिल है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक डॉ. टीपी सिंह का कहना है कि जुलाई और अगस्त में ही सर्वाधिक बरसात होती है। इस बार अगस्त में अपेक्षाकृत पानी नहीं गिरा। अगस्त में मात्र 126.2 मिमी. ही बरसात हुई। सितंबर में भी बरसात होती है, लेकिन फिलहाल कोई शक्तिशाली वेदर सिस्टम नहीं होने से तेज बरसात की संभावना नहीं दिख रही है। सितंबर के बीत चुके आठ दिनों में सिर्फ 0.2 मिमी. पानी गिरा है।

बंगाल की खाड़ी में बन रहे सिस्टम से उम्मीद

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी एसके डे ने बताया कि वर्तमान में कोई वेदर सिस्टम न होने से तेज बरसात की उम्मीद नहीं है। उधर, प्रदेश के उत्तरी हिस्से और उससे लगे उत्तरप्रदेश पर एक एंटी साइसर (प्रतिचक्रवात) बना हुआ है। इसके असर से पूरे प्रदेश में दिन का तापमान बढ़ने लगा है। वातावरण और जमीन में नमी होने से उमस बढ़ रही है।

हालांकि आद्रता के कारण बादल बन रहे हैं, तापमान बढ़ने से स्थानीय स्तर पर सिस्टम बनने से गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ने की संभावना है। एसके डे के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में एक वेदर सिस्टम बनने जा रहा है। इस सिस्टम के आगे बढ़ने पर राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर बरसात की उम्मीद है। लेकिन इसका असर 3-4 चार दिन बाद दिखेगा।

पिछले वर्षों में अगस्त में हुई बरसात

वर्ष बरसात

2013 – 333.0

2014 – 164.9

2015 – 285.0

2016 – 531.7

2017 – 126.2

मानसून की बेरुखी के कारण इस वर्ष अगस्त में अपेक्षाकृत बरसात नहीं हुई।

इस वर्ष बरसात ऐसी हुई बरसात

माह – बरसात

जून – 102.9 मिमी.

जुलाई – 334.5 मिमी.

अगस्त – 126.2 मिमी.

सितंबर – 0.2 मिमी.

कुल बरसात – 563.8 मिमी.

सामान्य बरसात – 963.2मिमी.

अभी तक सामान्य से कम – 399.4 मिमी.

नोट : सितंबर का आंकड़ा 8 सितंबर तक का है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here