चंडीगढ़। डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की राजदार हनीप्रीत की हत्या की आशंका हरियाणा पुलिस को भी होने लगी है। 15 दिन से गायब चल रही हनीप्रीत को मार दिए जाने की आशंका खुफिया एजेंसियों ने चार दिन पहले ही जाहिर की थी। शक उन्हीं लोगों पर है, जिनके साथ वह फरार चल रही है।

हनीप्रीत के साथ फरार चल रहे तीन लोगों में से एक से हुई पुलिस की बातचीत

पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने बताया कि हनीप्रीत रोहतक के सुनारिया से जिन तीन लोगों के साथ गई थी, उनमें से एक से हरियाणा पुलिस के अधिकारियों की बातचीत हुई है, लेकिन वह कुछ जानकारी नहीं दे रहा है। पूछने पर उसने न तो अपने बारे में और न ही हनीप्रीत के बारे में कुछ बताया।

पुलिस ने हनीप्रीत के बारे में पूछा तो कुछ नहीं बताया और न ही कराई बात

उस व्यक्ति से हुई बातचीत का ब्योरा तो डीजीपी ने सार्वजनिक नहीं किया, लेकिन इतना जरूर कहा कि हम जल्द ही तह में पहुंच जाएंगे। डीजीपी ने कहा अभी तक किसी ने डेरे के खिलाफ हरियाणा पुलिस को शिकायत नही दी है।

पुलिस महानिदेशक के अनुसार हनीप्रीत जब तक पंचकूला से रोहतक पहुंची थी, तब तक वह किसी केस में अभियुक्त नहीं थी, बाद में उस पर देशद्रोह का केस दर्ज हुआ। तभी से वह फरार चल रही है। उन्होंने कहा कि हनीप्रीत के साथ गए बाकी लोगों से भी बातचीत की कोशिश की जा रही है।
——-

नो फ्लाइंग जोन में सुनारिया जेल

गुरमीत राम रहीम के कारण सुनारिया जेल सबसे चर्चित जेलों में एक बन गई है। इस जेल को नो फ्लाइंग जोन में रखा गया है। हालांकि जेल में अभी तक मोबाइल जैमर नहीं लग सका है। जिला प्रशासन ने इसको लेकर भी डीजी जेल से आवेदन किया है।

रोहतक के जिला उपायुक्त अतुल कुमार ने बताया कि जेल परिसर के पांच किमी परिधि में धारा 144 लागू की गई है। यह अगले आदेश तक जारी रहेगी। 16 सितंबर को दो हत्याओं के केस में गुरमीत को पंचकूला की विशेष सीबीआइ अदालत में नहीं ले जाया जाएगा। सुनारिया जेल से वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिये पेश किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here