श्रीनगर। सुरक्षाबलों ने अपने ऑपरेशन आल आउट को जारी रखते हुए सोमवार को दक्षिण कश्मीर के जिला कुलगाम में हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को मार गिराया। इस दौरान आतंकियों का एक ओवरग्राऊंड वर्कर भी पकड़ा गया।

यहां मिली जानकारी के अनुसार, आज तडके तीन बजे के करीब एक विशेष सूचना पर सेना और पुलिस के संयुक्त कार्यदल ने खुडवनी में घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया। आतंकियों ने जवानों को अपने ठिकाने की तरफ आते देख फायरिंग की और भागने का प्रयास किया। जवानों ने खुद को बचाते हुए जवाबी फायर किया और आतंकियों को मुठभेड़ में उलझा लिया।

करीब आधा घंटा दोनों तरफ से गोलियों की बौछार होती रही। आतंकियों की तरफ से गोलियां चलना बंद होने पर सुरक्षाबलों ने तलाशी ली। उन्हें वहां गोलियों से छलनी दो आतंकियों के शव मिले। जवानों ने मुठभेड़स्थल की तलाशी लेते हुए एक जगह छिपकर बैठे उनके ओवरग्राऊंड वर्कर को भी पकड़ लिया।फिलहाल,उससे पूछताछ जारी है। मारे गए दोनों आतंकी स्थानीय हैं। उनमें से एक का नाम सयार वानी और दूसरे का नाम दाऊद इलाही है। दोनो ही हिज्ब से जुड़े हुए थे। अन्य विवरण प्रतीक्षारत हैं। गिरफ्तार और मारे गए आतंकियों के पास से एके- 47 तथा इंसास राइफल बरामद किए गए हैं। फिलहाल सुरक्षाबलों का तलाशी अभियान जारी है।

केरन सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश को सेना ने किया नाकाम

इससे पहले रविवार को उत्तरी कश्मीर के केरन सेक्टर (कुपवाड़ा) में घुसपैठ का प्रयास नाकाम बनाते हुए सेना के तीन जवान घायल हो गए थे। इस बीच सेना ने एलओसी (नियंत्रण रेखा) से सटे सभी अग्रिम इलाकों में चौकसी बढ़ा दी है। जानकारी के अनुसार केरन सेक्टर में एलओसी पर ख्वाजा बालिखी चौकी के इलाके में गश्त कर रहे सेना की 16 मद्रास रेजिमेंट के जवानों ने शाम करीब चार बजे घुसपैठियों के एक दल को भारतीय सीमा में घुसपैठ करने का प्रयास करते देखा। जवानों ने आसपास की चौकियों को सचेत करते हुए घुसपैठियों को ललकारा। घुसपैठिये वापस गुलाम कश्मीर की तरफ दौडे़। इस दौरान उन्होंने जवानों पर राइफल ग्रेनेड दागने के अलावा स्वचालित हथियारों से फायरिंग भी की। इसमें तीन जवान घायल हो गए।

अन्य जवानों ने जवाबी फायर किया। लेकिन घुसपैठिये सुरक्षित गुलाम कश्मीर की तरफ भागने में कामयाब रहे। घायल जवानों की पहचान एचबी स्वामी, यैंकीवाली वाला सुब्रह्माणयम और के महेश के रूप में हुई है। तीनों को निकटवर्ती अस्पताल में दाखिल कराया गया है। इसी बीच एलओसी पर गश्त कर रहे 16 मद्रास रेजिमेंट के तीन जवान एक बारूदी सुरंग की चपेट में आ गए। इससे हुए धमाके में तीनों जवान घायल हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here