कराची। पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट फिर से शुरू करने की मुहिम के तहत विश्व एकादश की टीम मेजबानों के खिलाफ टी-20 सीरीज खेलने के लिए सोमवार सुबह लाहौर पहुंची। दक्षिण अफ्रीका के फाफ डुप्लेसिस की अगुआई में विश्व एकादश की टीम के आगमन के लिए अल्लामा इकबाल अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए थे। इस छोटे दौरे पर तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों का आयोजन होगा, जिन्हें 12, 13 और 15 सितंबर को गद्दाफी स्टेडियम में खेला जाएगा।

लाहौर पहुंचने के बाद विश्व एकादश के खिलाडि़यों और अधिकारियों को माल रोड पर पांच सितारा होटल में ले जाया गया, जिस पर सभी ओर से ट्रैफिक बंद था। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने पहले घोषणा की थी कि हवाईअड्डे पर मीडिया से कोई बातचीत नहीं होगी। मार्च, 2009 में श्रीलंकाई टीम पर हुए आंतकवादी हमले के बाद किसी टीम का यह आधिकारिक दौरा है, जिससे इतनी कड़ी सुरक्षा जरूरी भी थी। इसमें अर्धसैनिक बल और पुलिस कमांडो भी शामिल थे।

इस हमले के बाद से कोई भी शीर्ष टीम सुरक्षा चिंताओं के कारण पाकिस्तान नहीं आई हैं और आइसीसी ने भी किसी भी मैच रेफरी और अंपायर को मई, 2015 में लाहौर में जिंबाब्वे के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज के लिए भेजने से इन्कार कर दिया था।

लेकिन, देश में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी के लिए विश्व एकादश के दौरे को पीसीबी काफी अहम मान रहा है, क्योंकि इसे सिर्फ आइसीसी द्वारा समर्थन ही प्राप्त नहीं है, बल्कि विश्व संचालन संस्था ने सुरक्षा इंतजामात के लिए सुरक्षा विशेषज्ञों के दौरे के लिए भी फंड दिया था।

विश्व एकादश

फाफ डुप्लेसिस (कप्तान), हाशिम अमला, कॉलिन मिलर, इमरान ताहिर, मोर्नी मोर्केल (सभी दक्षिण अफ्रीका), जॉर्ज बेली, टिम पेनी, बेन कटिंग (सभी ऑस्ट्रेलिया), तमीम इकबाल (बांग्लादेश), तिषारा परेरा (श्रीलंका), ग्रांट इलियट (न्यूजीलैंड), पॉल कॉलिंगवुड (इंग्लैंड), डेरेन सैमी और सैमुअल बद्री (दोनों वेस्टइंडीज)।

‘मैं पूरे क्रिकेट परिवार की ओर से दोनों टीमों और पीसीबी को प्रतिस्पर्धी सीरीज के लिए शुभकामनाएं देता हूं, जिसका पाकिस्तान के जुनूनी प्रशंसक लुत्फ उठा सकेंगे। मैं उम्मीद करता हूं कि इस सप्ताह होने वाले मैचों से पाकिस्तान में नियमित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत होगी।’

-शशांक मनोहर, चेयरमैन, आइसीसी

‘हम यहां सिर्फ क्रिकेट सीरीज खेलने के लिए नहीं आए हैं। यह हमारे लिए क्रिकेट से बढ़कर है। यह छोटा सा दौरा सबके लिए बहुत बड़ा लक्ष्य है। हम बहुत खुश हैं कि पाकिस्तानी प्रशंसकों को लंबे अरसे बाद अपने घर में अंतररराष्ट्रीय क्रिकेट देखने को मिलेगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here