नई दिल्ली। डॉ एमजी रामाचंद्रन की जन्म शताब्दी पर 100 रुपए का सिक्का स्मारक के तौर पर जारी किया जाएगा। वित्त मंत्रालय की ओर से इस संबंध में 11 सितंबर को एक अधिसूचना जारी की गई थी। गौरतलब है कि एमजी रामाचंद्रन एआईएडीएमके के संस्थापक थे और उनकी जन्म शताब्दी पर एक 5 रुपए का नया सिक्का भी जारी किया जाएगा।

सरकार की ओर से जारी की गई नोटिफिकेशन में कहा गया, “अधिसूचना में कहा गया है कि ये नए सिक्के डा. एमजी रामचंद्रन की जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में केंद्र सरकार द्वारा मिंट से जारी किए जाएंगे।”

जानें 100 रुपए और 5 रुपए के सिक्के से जुड़ी बातें:

100 रुपए के सिक्के का व्यास 44 मिलीमीटर होगा।
यह 50 फीसद सिल्वर, 40 फीसद कॉपर, 5 फीसद निकल और 5 फीसद जिंक से मिलकर बना होगा।
100 रुपए के सिक्के के अगले हिस्से पर केंद्र में अशोक स्तंभ की आकृति होगी जिसके केंद्र में देवनागरी लिपि में सत्यमेव जयते लिखा होगा। इसमें रुपी सिंबल के साथ साथ 100 रुपए भी लिखा हुआ होगा।
वहीं सिक्के के पिछली तरफ डॉ एमजी रामाचंद्रन की तस्वीर अंकित होगी। 100 रुपए के सिक्के का मानक वजन 35 ग्राम होगा।
5 रुपए के सिक्के का व्यास 23 मिलीमीटर होगा और इसका वडन 6 ग्राम होगा। वहीं 5 रुपए के सिक्के में अगर मैटल कंपोजीशन की बात की जाए तो इसें 75 फीसद कॉपर, 20 फीसद जिंक और 5 फीसद निकल होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here