गुरुग्राम। सात वर्षीय मासूम प्रद्युम्न बाथरूम के बाहर तड़पता रहा, लेकिन उसकी आवाज नहीं निकली। उसके ऊपर लगातार दो बार बाथरूम के भीतर ही वार किए गए। इस वजह से गले की नली कट गई।

पोस्टमार्टम करने वाले बोर्ड के सदस्य डॉ. दीपक माथुर का कहना है कि पहली बार में जब गले के ऊपर वार किया जाता है तो चीख निकलती है। दूसरी बार में गले की नली कट जाती है जिससे आवाज नहीं निकलती है। इस वजह से प्रद्युम्न बाथरूम से बाहर तड़पता हुआ आया लेकिन उसकी आवाज नहीं निकली। डॉ. माथुर ने प्रद्युम्न के साथ दुष्कर्म होने की बात से इन्कार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here