वाराणसी। नौसेना की पहली भारतीय परमाणु पनडुब्बी आइएनएस चक्र के चालक दल में शामिल रहकर वर्षों देश की सेवा करने वाले शाहंशाहपुर निवासी रिटायर्ड फौजी प्रभात सिंह ने पीएम मोदी के स्वागत के लिए गांव में डेरा डाल दिया है। उनका इरादा पीएम के स्वागत में अपने घर पर सौ तिरंगा फहराने का है। वो इसकी तैयारी में जुटे हैं।

शाहंशाहपुर की अनुसूचित जाति बस्ती में पीएम नरेंद्र मोदी का स्वच्छ भारत मिशन के तहत कार्यक्रम तय है। इस बस्ती से ही सटा प्रभात सिंह का मकान है। पीएम के स्वागत में वह घर पर 100 तिरंगा लगाएंगे। प्रशासन तक भले ही उनकी योजना न पहुंची हो लेकिन इन्होंने गांव में इस बात का एलान कर दिया है कि वह पीएम का स्वागत अपने तरीके से करेंगे। इस बात की चर्चा गांव में जोरों पर है, वहीं प्रशासनिक अफसर इससे अनभिज्ञ हैं। प्रभात ने प्रथम भारतीय परमाणु पनडुब्बी आइएनएस चक्र के चालक दल में शामिल होने से पहले तीन साल रूस में ट्रेनिंग ली। वर्ष 1991 में इस पनडुब्बी को लेकर प्रभात रूस से भारत आए थे। हिंद महासागर में तैनात रही पनडुब्बी में प्रभात ने चालक के रूप में वर्षों कार्य किया। रिटायर होने के बाद बनारस शहर में आशियाना बनाया।

सात समंदर पार भी शाहंशाहपुर

शाहंशाहपुर की बिटिया मयूरी राय हावर्ड विवि अमेरिका में बॉयोटेक में रिसर्च कर रही हैं। अमेरिका से उन्होंने अपने चाचा सिद्धार्थ को फोन कर इस बात पर खुशी जताई कि प्रधानमंत्री उनके गांव में आ रहे हैं। मयूरी ने बताया कि वह अमेरिका में अपने दोस्तों संग इस बात को शेयर कर खुश है कि पीएम उसके गांव जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here