अबू धाबी। दुनिया की सबसे भारी महिला इमान अहमद ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। अबू धाबी में उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई है। उनका इलाज मुंबई के सैफी अस्पताल में भी हुआ था, लेकिन कुछ दिन बाद ही उनकी बहन इलाज के लिए उन्हें अबू धाबी ले गई थीं।

इमान का मुंबई के सैफी अस्पताल में लंबा इलाज चला था। यहां इलाज के दौरान कई सर्जरी के जरिए उनका वजन 300 किलो से ज्यादा कम हो गया था। इमान 500 किलो की थीं जब वह मुंबई इलाज करवाने आई थीं।

मुंबई में तीन महीने तक रहने के बाद उन्हें आगे के इलाज के लिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के वीपीएस हेल्थकेयर के बुर्जील अस्पताल में भर्ती कराया गया। इमान चार मई को यूएई पहुंची थी। इमान अहमद अब्दुलाती 25 साल से अलेक्जेंड्रिया स्थित अपने घर से बाहर नहीं निकली थीं।

भोजन करने, कपड़े बदलने और साफ-सफाई समेत अन्य दैनिक कार्यों के लिए वह अपनी मां और बहन चायमा अब्दुलाती पर निर्भर थीं। अल अरबिया के मुताबिक जन्म के समय ही उसका वजन असामान्य रूप से 500 किलोग्राम था।

डॉक्टरों ने उसे एलिफेंटाइसिस से पीड़ित पाया था। यह एक परजीवी संक्रमण है, जिसमें पिंडलियों में काफी सूजन आ जाती है। डॉक्टरों ने यह भी बताया कि ग्लैंड्स (ग्रंथियों) में गड़बड़ी के चलते उसके शरीर में जरूरत से ज्यादा पानी जमा हो जाता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here