नई दिल्ली। भारत जल्द ही दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। देश की अर्थव्यवस्था आगामी 10 वर्षों में तीन गुना बढ़ेगी। यह बात रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने इंडियन मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) 2017 में कही है। उन्होंने कहा है कि डेटा अर्थव्यवस्था को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएगा। भारत दूरसंचार और डिजिटल के लिहाज से काफी बड़ा बाजार है। साथ ही इंटरनेट के मामले में देश पहले पायदान पर है।

अंबानी ने बताया कि भारत में सबसे ज्यादा इंटरनेट उपभोक्ता हैं। देश की अर्थव्यवस्था आगामी 10 वर्षों में 2.5 लाख करोड़ डॉलर से बढ़कर सात लाख करोड़ डॉलर हो जाएगी। इस तरह देश दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। इसमें भारतीय दूरसंचार और आईटी उद्योग का विशेष योगदान होगा। यह एक तरह से डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन लाएंगे। जानकारी के लिए बता दें कि इंडियन मोबाइल कांग्रेस 27 सितंबर से 29 सितंबर तक चलेगा।

मुकेश अंबानी ने बताया है कि आगामी 12 महीने से देश में 2जी कवरेज से ज्यादा 4जी हो जाएगी। इसके लिए नेक्स्ट जेनरेशन तकनीक में निवेश बढ़ाने और साझेदारी बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा है कि डेटा एक नया ऑक्सीजन है। यह करीब 1.3 अरब भारतीयों के लिए न्यू ऑयल है।

उन्होंने यह भी कहा कि देश दूरसंचार और आईटी उद्योग के साथ चौथी इंडस्ट्रीयल क्रांति की अगुवाई करेगा। यह 1.3 अरब भारतीयों को सशक्त करने में मदद करेगा। उन्होंने कहा, “हमारा लक्ष्य केवल सस्ती कीमत पर हाईस्पीड डेटा उपलब्ध कराना नहीं है, बल्कि किफायती कीमत पर स्मार्टफोन भी मुहैया कराना है। ऐसा इसलिए ताकि फोन को इंटरनेट से आसानी से कनेक्ट किया जा सके।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here