बेंगलुरु। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज रोडनी हॉग ने कप्तान स्टीव स्मिथ पर अपने करीबी क्रिकेटरों को अंतिम एकादश में खिलाने का आरोप लगाया था जिसे डेविड वॉर्नर ने खारिज किया है।

हॉग ने कहा था कि स्मिथ राष्ट्रीय टीम में खिलाड़ियों के चयन में पक्षपात कर रहे हैं। टीम की खराब फॉर्म की एक वजह यह भी है कि कप्तान टीम में अपने दोस्तों को शामिल करते हैं।

चौथे वनडे से पूर्व वॉर्नर ने कहा कि हर व्यक्ति के अपने विचार होते हैं और उसे इन्हें रखने का हक भी है। मैं नहीं जानता कि इस तरह की बातें कहां से बन रही हैं। यह पूरी तरह से चयनकर्ताओं पर निर्भर करता है कि किस खिलाड़ी को टीम में शामिल करना है। जब आपका चयन हो जाता है तो आप मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का प्रयास करते हैं। यही हमेशा होता है। किसी क्रिकेटर का टीम में चयन होना खिलाड़ी के हाथ में नहीं होता है। जो वह कर सकते हैं, वह है मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन।

हॉग ने इशारा किया था कि एस्टन एगर, हिल्टन कार्टराइट और निक मैडिंसन का टीम में बरकरार रहने का कारण स्मिथ से उनके करीबी रिश्ते हैं। लगातार भारतीय स्पिनरों के खिलाफ घुटने टेकने पर वॉर्नर ने कहा कि हमारे बल्लेबाज भारतीय स्पिनरों को खेलने में सक्षम हैं। हम उन्हें आसानी के साथ खेल सकते हैं। टीम में एक दो ऐसे खिलाड़ी हैं जो शायद गेंदबाज की स्पिन को समझ नहीं पा रहे हैं। हमारे बल्लेबाजों को इस पर ध्यान देने की जरूरत है और भारतीय स्पिनरों के सामने एक योजना के तहत खेलने की जरूरत है।

वॉर्नर ने इसके साथ ही यह कहा कि अगले मैच में अगर हमारी टीम को अच्छी शुरुआत मिलती है तो परिस्थिति बदल जाएंगी। आपको बता दें कि इंदौर में हुए तीसरे वनडे में भी ऑस्ट्रेलियाई टीम को अच्छी शुरुआत मिली थी। हालांकि, बाद में भारतीय गेंदबाजों ने बढ़त लेकर अच्छी शुरुआत को अच्छे अंत में नहीं बदलने दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here