नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बेंगलुरू में खेले गए चौथे वनडे मैच में डेविड वॉर्नर ने एक ही मैच में दो-दो शतक लगा दिए। वॉर्नर ने एम. चिन्नास्वामी मैदान पर अपने बल्ले से ऐसी चमक बिखेरी कि पूरी दुनिया देखती रह गई। खास बात ये है कि भारतीय सरजमीं पर वॉर्नर के बल्ले से निकली ये पहली सेंचुरी भी रही। इस मैच में जिस तरह से वॉर्नर खेल रहे थे, ऐसा लग रहा था कि वो दोहरा शतक भी जमा देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

वॉर्नर ने ऐसे जमाए दो-दो शतक

बेंगलुरू के मैदान पर खेले गए वनडे सीरीज़ के चौथे मैच में डेविड वॉर्नर ने दमदार पारी खेलते हुए अपना 14वां एकदिवसीय शतक पूरा किया। ये मैच डेविड वॉर्नर का 100वां वनडे मैच भी रहा। एक शतक तो उन्होंने रन बनाकर लगाया और दूसरा शतक वनडे मैच खेलकर लगाया। इसीलिए हम कह रहे हैं कि वॉर्नर ने एक ही मैच में दो-दो शतक जमा दिए। इस मैच में डेविड वॉर्नर ने शानदार पारी खेलते हुए चौका लगाकर अपना यादगार शतक पूरा किया। इसी के साथ अपने 100वें वनडे मैच में शतक जमाने वाले वॉर्नर पहले ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ तो दुनिया के 8वें बल्लेबाज़ बन गए।

मौजूदा वनडे टीम में दूसरे खिलाड़ी

मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई टीम में 100 वनडे मैच खेलने वाले वॉर्नर दूसरे खिलाड़ी बन गए। कंगारू कप्तान स्टीव स्मिथ ने इस टीम में सबसे ज़्यादा 102 एकदिवसीय मैच खेले हैं और इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर वॉर्नर हैं।

फिंच और वॉर्नर ने बढ़ाई भारत की मुश्किलें

चौथे मैच में वॉर्नर ने फिंच के साथ मिलकर ना सिर्फ 231 रन की साझेदारी की बल्कि अपनी टीम को एक मजबूत शुरुआत भी दिलाई। इस मैच में वॉर्नर ने शतक जमाने के लिए 103 गेंदों का सामना किया। जब वो 99 रन पर खेल रहे थे तो उन्होंने केदार जाधव की गेंद पर चौका लगाकर अपना शतक पूरा किया। हालांकि केदार जाधव की गेंद पर आउट होने से पहले 119 गेंदों पर 124 रन बनाए। इस पारी में वॉर्नर ने 12 चौके और 4 दमदार छक्के भी जमाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here