भोपाल। शिशुओं की मौत के मामले में मध्यप्रदेश के एक बार फिर देश में सबसे खराब स्थिति में रहा। जनगणना निदेशालय की एसआरएस-2017 की गुरुवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक मप्र की शिशु मृत्यु दर (आईएमआर) 47 हैं। यानी यहां जन्म से एक साल के बीच प्रति हजार बच्चों में 47 की मौत हो जाती है। इसमें ग्रामीण क्षेत्र की आईएमआर 50 और शहरी क्षेत्र की 33 प्रति हजार है।

एसआरएस-2016 की रिपोर्ट में आईएमआर 50 प्रति हजार थी। इस तरह सिर्फ तीन अंको गिरावट आई है। बता दें कि मप्र सरकार ने 2015 तक आईएमआर 30 प्रति हजार लाने का लक्ष्य तय किया था। शिशुओं और माताओं की मौत कम करने के लिए नेशनल हेल्थ मिशन के तहत कई योजनाएं चल रही हैं। केन्द्र व राज्य सरकार इन योजनाओं पर 1800 करोड़ रुपए हर साल खर्च कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here