नई दिल्ली। दशहरा व मोहर्रम के मद्देनजर सुरक्षा एजेसियो ने दिल्ली में अलर्ट जारी किया है। इसके लिए बाकयदा चेतावनी पत्र जारी किया गया है। एजेंसी ने अाशंका जाहिर की है कि दशहरे और मोर्हरम के दौरान शरारती तत्व धार्मिक उन्माद फैला सकते है।

ऐसे मे दिल्ली पुलिस ने राजधानी मे सुरक्षा इंतजामो को कड़ा कर दिया है और पूरी दिल्ली मे पुलिसकर्मियो की संख्या को बढ़ा दिया है। विशेष पुलिस आयुक्त ऑपरेशन व मुख्य प्रवक्ता दीपेद्र पाठक ने बताया कि सुरक्षा अलर्ट को लेकर दिल्ली पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है और हम हर खतरे से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वर्ष दशहरा दिल्ली के लाल किला मैदान में मनाएंगे। वर्ष 2014 के बाद यह दूसरा अवसर होगा जब वह विजयादशमी दिल्ली में मनाएंगे। पिछले वर्ष उन्होंने दशहरा लखनऊ में मनाया था। उससे पहले 2015 में उन्होंने दशहरा के दिन आंध्र प्रदेश की नई राजधानी अमरावती की आधारशिला रखी थी और वहीं दिनभर सक्रिय रहे थे। खास बात यह है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद व उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का पहला दशहरा भी दिल्ली में ही मनेगा।

लाल किला मैदान में श्री धार्मिक लीला कमेटी की ओर से आयोजित रामलीला में राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन व विजय गोयल तथा दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी की मौजूदगी रहेगी। इस बारे में श्री धार्मिक लीला समिति के प्रवक्ता रवि जैन ने बताया कि लाल किला मैदान के माधवदास पार्क में दशहरा उत्सव शाम 4 बजे से प्रारंभ हो जाएगा।

आयोजकों के मुताबिक कार्यक्रम में कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत दूसरे देशों के प्रतिनिधि भी शामिल हो सकते हैं। इसके पहले वर्ष 2014 में सरकार में आने के बाद नरेंद्र मोदी ने लालकिला मैदान में विजयादशमी मनाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here