सीकर: जैन मुनि तरुण सागर महाराज ने लोगों से विजयादशमी पर रावण की बजाय दुष्कर्मी बाबाओं के पुतले बनाकर उनका दहन करने के लिए कहा है। तरुण सागर ने शनिवार को अपने एक प्रवचन में कहा कि दशहरा तभी सार्थक होगा जब हम सब एक साथ मिलकर इन फर्जी बाबाओं के खिलाफ खड़े होंगे।

जैन मुनि ने कहा कि जिन बाबाओं पर अदालत में दुष्कर्म के आरोप सिद्ध हो गए है उन सभी का पुतला बनाकर दशहरे पर दहन करना चाहिए जिससे समाज में एक सन्देश जा सके।

जैन मुनि तरुण सागर ने कहा कि रावण ने सीता का अपहरण जरूर किया था लेकिन सीता के साथ बदसलूकी नहीं की थी। लेकिन ये फर्जी बाबा स्त्रियों के साथ बदसलूकी कर रहे हैं। ऐसे में इन दुष्कर्मी बाबाओं का पुतला दहन किया जाना चाहिए क्योंकि 21वीं सदी के असली रावण यही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here