इस्लामाबाद :पाकिस्तान संचार प्रणाली विकसित करने के लिए 55 अरब डॉलर की CPEC परियोजना के तहत एक बहुत बड़ी परियोजना पर काम कर रहा है। यह प्रणाली भारत और अमेरिका से नहीं गुजरेगी। डॉन की खबर के अनुसार चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे की दीर्घकालिक योजना (LTP) का रोडमैप नवंबर 2013 से दिसंबर 2015 तक दोनों देशों के अधिकारियों व विशेषज्ञों ने तैयार किया।

इस योजना में 21 पन्नों में संचार से संबंधित ब्योरा है और 2016 से 2030 तक की कार्ययोजना है। खबर के अनुसार इस परियोजना का लक्ष्य संचार ढांचे को नया स्वरूप प्रदान करना है जिसमें पाकिस्तान और चीन को जोड़ने वाले फाइबर ऑप्टिक केबल और इंटरनेट यातायात के लिए नया पनडुब्बी लैंडिंग स्टेशन आदि शामिल है। इसका महत्वपूर्ण अवयव नया उन्नत फाइबर ऑप्टिक केबल नेटवर्क है जो पाकिस्तान में फैला होगा और सीमा पार जाकर चीन तक जाएगा। अखबार ने कहा कि समग्र रणनीति सहयोग मजबूत होने के साथ ही त्वरित, भरोसेमंद कनेक्टिविटी की जरूरत पैदा हुई और शायद यह यूरोप, अमेरिका और भारत से नहीं गुजरेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here