पर्थ। भारतीय महिला ‘ए’ हॉकी टीम को शनिवार को ऑस्ट्रेलियन हॉकी लीग के दूसरे मैच में न्यू साउथ वेल्स (एनएसडब्ल्यू) के हाथों एकतरफा मुकाबले में 0-7 से करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा।

एनएसडब्ल्यू ने मैच में कमाल का खेल दिखाया और पहले ही क्वार्टर में 3-0 की बढ़त हासिल कर ली जिससे भारतीय महिलाएं शुरुआत से ही दबाव में आ गई। साउथ वेल्स की ओर से एमिली स्मिथ ने दूसरे, कॉर्टनी शनेल छठे और जेमी हेमिंगवे ने 12वें मिनट में मैदानी गोल किए।

मैच के 18वें मिनट में जैसिका वाटरसन ने एक और गोल करते हुए स्कोर 4-0 किया। दूसरे और फिर तीसरे क्वार्टर में भारत के मजबूत डिफेंस की बदौलत विपक्षी खिलाड़ी अपने स्कोर में कोई और इजाफा नहीं कर सकीं।

कप्तान प्रीति दुबे और उनकी टीम के लिए हालांकि वेल्स के डिफेंस को भेदना किसी भी पल आसान नहीं रहा। हालांकि मैच के आखिरी 15 मिनट फिर से भारतीय महिलाओं के लिए दबावपूर्ण रहे जब वेल्स की खिलाड़ियों ने उन पर ताबड़तोड़ हमले करते हुए तीन और गोल दाग दिए।

कैटलीन नोब्स ने 46वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल दागा तो दो मिनट बाद 48वें मिनट में उसे एक और पेनाल्टी मिली। इस बार एमिली स्मिथ ने दूसरा गोल करते हुए स्कोर 6-0 कर दिया। एबीगाली विल्सन ने 52वें मिनट में गोल करते हुए 7-0 से न्यू साउथ वेल्स की धमाकेदार जीत सुनिश्चित कर दी।

पुरुषों को भी मिली शिकस्त

भारतीय पुरुष ‘ए’ टीम को न्यू साउथ वेल्स से संघर्षपूर्ण मुकाबले में 0-1 से हार मिली। पहले दो क्वार्टर गोल रहित रहे। तीसरे क्वार्टर (37वें मिनट) में न्यू साउथ वेल्स के ब्लेक गोवर्स ने भारतीय गोलकीपर कृष्णन पाठक को चकमा देकर टीम का खाता खोला। अंतिम 15 मिनट में भारतीय खिलाड़ियों ने बराबरी के लिए पूरी ताकत झोंक पर पर कामयाब नहीं हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here