नई दिल्ली। दिल्ली के स्कूलों में कार्यरत 15000 शिक्षकों को नियमित करने का बिल बुधवार को दिल्ली विधानसभा में पेश किया गया। विधानसभा में अपना पक्ष रखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मुद्दे पर उपराज्यपाल अनिल बैजल के रुख पर नाराजगी जताई।

ब्यूरोक्रेसी से नहीं, डेमोक्रेसी से चलता है देश

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि देश ब्यूरोक्रेसी से नहीं, डेमोक्रेसी से चलता है। वहीं, उन्होंने कहा कि देश अधिकारियों से नहीं, हम लोगों से देश चलता है। भरी विधानसभा में केजरीवाल ने कहा- ‘दिल्ली की जनता ने हमें चुना है, दिल्ली के मालिक हम हैं’।

पढ़ें और क्या-क्या कहा केजरीवाल ने

1. मुद्दा काफी अहम है, शिक्षकों को सम्मान और सुरक्षा दें

2. इस मामले को राजनीति से परे रखें

3. आम आदमी पार्टी और भाजपा मिल जाएं तो 1 हफ्ते में ये पक्के हो जाएंगे

4. एक आपसी सहमति बनें।

6. विजेंद्र गुप्ता जी आपसे हाथ जोड़ कर निवेदन है कि करना है कि नहीं करना

7. एलजी साहब का सर्विस वाला तर्क गलत है।

8. एलजी ने बाकायदा पत्र भेजा है कि यह हमारा मामला है, तो आप पक्का कर दो।

9. हम तो आज शाम को बिल को पास करके राजनिवास भेज रहे हैं

10. आपका एलजी सही प्रोसीजर से करे, तो करो

11. हम भी परेशान हो गए हैं। अगर सदन की ताकत है तो पास करो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here