नई दिल्ली। कप्तान जॉन फिइटे अर्प के दो शानदार गोलों के दम पर जर्मनी कोलंबिया को 4-0 से धोकर फीफा अंडर-17 विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाली पहली टीम बन गई। जर्मनी ने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में राउंड ऑफ-16 के पहले मुकाबले में कोलंबिया के कमजोर डिफेंस का पूरा फायदा उठाकर उसे टूर्नामेंट से बाहर कर दिया।

जर्मनी के लिए अर्प (सातवें व 65वें मिनट), यान बिसेक (39वें मिनट) और जॉन येबोआ (49वें मिनट) ने गोल किए। 1985 में चीन में हुए टूर्नामेंट के पहले संस्करण की उपविजेता जर्मनी का अंतिम आठ में सामना 22 अक्टूबर को कोलकाता में ब्राजील और होंडुरस के बीच बुधवार को होने वाले क्वार्टर फाइनल की विजेता टीम से होगा। ग्रुप चरण में गोल करने के लिए जूझ रहे जर्मनी के स्ट्राइकरों ने कोलंबिया के डिफेंस को पूरी तरह से तितर-बितर कर दिया।

लीग मैचों में ईरान से हारकर टूर्नामेंट में सबसे बड़ा उलटफेर झेलने वाली जर्मनी के मजबूत खेल के आगे दक्षिण अमेरिकी टीम जूझती नजर आई। हालांकि उसने कई बार विपक्षी टीम के गोल में सेंध लगाई, लेकिन खाता खोलने में नाकाम नही। जर्मनी के खिलाडिय़ों ने यहां की गर्मी के बावजूद काफी शानदार खेल दिखाया। जर्मनी के लिए अर्प ने सातवें मिनट में ही कोलंबिया के गोलकीपर केविन मीर की गलती का पूरा फायदा उठाते हुए गोलकर जर्मनी को 1-0 की बढ़त दिला दी। मिडफील्डर येबोआ ने कोलंबियाई डिफेंडरों से बचते हुए अर्प को पास दिया, जिन्होंने मुड़कर शॉट लगाया जो सीधे गोलपोस्ट में पहुंचा। हालांकि गोलकीपर इसे आसानी से बचा सकता था।

चार बार इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंची जर्मनी को यानिक केटल के चोटिल होने से करारा झटका लगा, जिनकी जगह जोस वागनोमान को उतारा गया। इसके बाद जर्मनी की टीम में थोड़ी सुस्त दिखाई दी, जिससे कोलंबियाई टीम ने 30वें मिनट तक बराबरी करने के लिए दो शानदार प्रयास किए। फिर जर्मनी ने हमले तेज किए। तीन मिनट बाद येबोआ का शानदार शॉट गोलपोस्ट से लगकर बाहर ही रह गया, नहीं तो जर्मनी की बढ़त दोगुनी हो गई होती। हालांकि उसका इंतजार जल्द ही खत्म हुआ जब 39वें मिनट में बिसेक ने कॉर्नर शॉट पर टीम के लिए शानदार हेडर से दूसरा गोल किया। यह 2-0 की बढ़त पहले हाफ के अंतिम मिनट में और बढ़ सकती थी, मगर एक अच्छा प्रयास कामयाब नहीं हो सका।

दूसरे हाफ में जर्मनी ने मैदान पर आते ही आक्रामकता दिखाई। कप्तान अर्प 49वें मिनट में गेंद लेकर आगे बढ़ रहे थे और उन्होंने इसे येबोआ की ओर कर दिया, जिन्होंने शानदार गोल कर स्कोर 3-0 किया। अर्प ने 65वें मिनट में टीम की ओर से चौथा और अपना दूसरा गोल दागकर स्कोर 4-0 कर दिया। जर्मनी का इस वैश्विक टूर्नामेंट में प्रदर्शन इतना शानदार नहीं रहा है, पर इस बार टीम काफी मजबूत दिख रही है। टीम 32 साल पहले उप विजेता रही थी।

यह कोलंबिया का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2009 में था जब टीम सेमीफाइनल में स्पेन से 0-1 से हारकर तीसरे स्थान पर रही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here