जयपुर। संजय लीला भंसाली की फिल्म “पद्मावती “के विवाद के बीच राजपूत समाज के बारे में विवादित बयान देकर सुर्खियों में आए गीतकार जावेद अख्तर के खिलाफ जयपुर के सिंधी कैम्प पुलिस थाने में परिवाद दर्ज करवाया गया है।

एड़वोकेट प्रताप सिंह शेखावत ने यह परिवाद दर्ज करवाया है। इसमें कहा गया है कि वह राजपूत समाज से है और सामाजिक कार्यकर्ता हैं । 20 नवम्बर को समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचार में जावेद अख्तर को पद्मावती फिल्म को लेकर राजपूत समाज के बारे में दिया गया विवादित बयान पढ़ा । यह बयान अपमानजनक और समाज में विभिन्न जाति एवं समुदायों के बीच शत्रुता पैदा करने वाला है । इस बयान से सामाजिक सौहार्द बिगड़ सकता है । ऐसे में जावेद अख्तर के विरूद्ध आईपीसी की धारा 153 क,ख,ग एवं 295 क,298,504 और 505 के तहत मुकदर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाए ।

उल्लेखनीय है कि जावेद अख्तर ने एक इंटरव्यू में कहा था कि “राजपूत जाति कभी अंग्रेजों से लड़ी ही नहीं और अब सड़कों पर उतर रहे हैं । 200 साल तक अंग्रेजों के दरबार में पगड़ियां बांधकर खड़े रहे,तब उनकी राजपूती कहां गई थी । ” राजपूतों ने अंग्रेजों की गुलामी की थी,ये लोग अब प्रतिष्ठा की बात ना करें ।

इधर राज्य के कई शहरों में मंगलवार को भी फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन हुए, राजपूत महिलाएं भी बड़ी संख्या में प्रदर्शन में शामिल हुई । चित्तोड,भीलवाड़ा,जोधपुर एवं जयपुर में जोवद अख्तर के खिलाफ भी प्रदर्शन हुए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here