भोपाल गैंगरेप मामले में हाइकोर्ट में सोमवार को एक्शन टेकन रिपोर्ट पेश की गई है। हाईकोर्ट के स्वतः संझान वाली इस याचिका पर पिछली सुनवाई में प्रदेश सरकार को कड़ी फटकार लगाते हुए 15 दिन में एक्शन टेकन रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए गए थे। इसके साथ ही अब अगली सुनवाई के लिए 8 जनवरी की तारीख तय की गई है। सरकार ने कार्रवाई के लिए कोर्ट से 3 सप्ताह का समय मांगा है।

सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रही छात्रा के साथ भोपाल के हबीबगंज स्टेशन से चंद कदमों की दूरी पर हुए गैंगरेप मामले में शासन सोमवार को बंद लिफाफे में एक्शन टेकन रिपोर्ट पेश कर दी। मुख्य न्यायाधीश हेमंत गुप्ता व न्यायाधीश विजय शुक्ला की खंडपीठ इस मामले की सुनवाई की और सरकार की ओर से महाधिवक्ता पुरुषेन्द्र कौरव अदालत को अब तक की गई कार्रवाई का ब्यौरा भी उन्‍हें दिया।

इस संबंध में 6 नवंबर को चार्जशीट पेश की जा चुकी है। तीन टीआई और 2 सब इंस्‍पेक्‍टरों को सस्‍पेंड किया जा चुका है। मेडिकल रिपोर्ट पर सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि इस संबंध में दो डॉक्‍टरों पर कार्रवाई की जा चुकी है जिन्‍हेांने प्रेशर में आकर गलत रिपोर्ट लिख दी थी। इसके साथ ही सरकार ने पक्ष रखा कि महिलाओं के लिए जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं साथ ही उनकी सुरक्षा से जुड़ा ऐप लांच किया गया है।

इसके बाद अदालत ने नसीहत देते हुए कहा कि जागरूकता अभियान पुलिस के लिए भी चलाए जाने की जरूरत है। इसके साथ ही अदालत ने यह भी पूछा कि लापरवाह पुलिसकर्मियों पर क्‍या कार्रवाई होगी। इसके बाद सरकार ने तीन सप्‍ताह का समय मांगा जिसके बाद 8 जनवरी को इस मामले की अगली सुनवाई तय की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here