रामायण में बहुत-सी कहानियां ऐसी है, जिससे कई मान्यताएं जुड़ी हुई हैं. एक मान्यता के अनुसार भगवान हनुमान का पुत्र मकरध्वज था. जिन्होंने एक मछली के गर्भ से जन्म लिया था.
रामायण के इसी प्रसंग से एक ऐसी जगह जुड़ी हुई है, जो एक धार्मिक स्थल बन चुका है. देश-विदेश से लोग इस जगह पर घूमने फिरने आते हैं.
हनुमानजी व उनके पुत्र मकरध्वज का पहला मंदिर गुजरात के भेंटद्वारिका में स्थित है. यह स्थान मुख्य द्वारिका से दो किलोमीटर अंदर की ओर है. इस मंदिर को दांडी हनुमान मंदिर के नाम से जाना जाता है. ऐसी मान्यता है कि यह वही स्थान है, जहां पहली बार हनुमानजी अपने पुत्र मकरध्वज से मिले थे. मंदिर के अंदर प्रवेश करते ही सामने हनुमान पुत्र मकरध्वज की प्रतिमा है. वहीं पास में हनुमानजी की प्रतिमा भी स्थापित है.
अगर आप इस मंदिर में घूमने जा रहे हैं, तो आपको कुछ बातों को मानना पड़ेगा. आपको बिना प्याज-लहसुन, मांस-मछली और अंडे को खाए जाना पड़ेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here