हिसार। सर्दी और कोहरा सितम ढाने लगे हैं। घने कोहरे के कारण सोमवार व मंगलवार सुबह को प्रदेश में हुए हादसों में आठ लोगों की मौत हो गई तो जींद में ठंड ने दो जाने ले लीं। गांव बराड़खेड़ा निवासी रामकरण (50) और पिल्लूखेड़ा के सतीश (45) खेतों में पानी देने गए थे। दोनों की ठंड लगने से मौत हो गई। वे अपने-अपने खेतों में पड़े मिले।

वहीं, पंचकूला के निकट स्थित रायपुर रानी में मंगलवार सुबह घनी धुंध के कारण लगभग आधे दर्जन से अधिक वाहन आपस में भिड़ गए। हालांकि इसमें अभी किसी के गंभीर घायल होने की सूचना नहीं है। झज्जर में बेरी रोड रेलवे फाटक के पास मंगलवार सुबह हरियाणा रोडवेज की बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई। बस अंसतुलित होकर खाई में गिरी। हादसे में करीब एक दर्जन सवारियां घायल। घायलों को झज्जर सामान्य अस्पताल लाया गया।

करनाल में अधिकतम तापमान रिकॉर्ड गिरावट के साथ 11.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे पूर्व वर्ष 2013 में अधिकतम तापमान गिरकर 10.5 डिग्री था। उधर, रविवार को हिसार का न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस रहा। पिछले 11 सालों में पहली बार ऐसा हुआ है जब नववर्ष की सुबह इतनी ठंडी रही। 11 सालों से कभी भी पहली जनवरी को तापमान इतना कम नहीं गया।

हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग के अनुसार जनवरी के पहले हफ्ते में सुबह शाम घना कोहरा छाने की संभावना है। इसके साथ ही शीत लहरें परेशान करेंगी। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में कोहरा गिरने की संभावना जताई है। करनाल स्थित केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक भी शीत लहर चल सकती है, जिससे ठंड और बढ़ेगी। अभी दो दिन तक राहत के आसार नहीं हैं।

धुंध के कारण ट्रेनें लेट

प्रदेश के प्रमुख रेलवे स्टेशनों हिसार और अंबाला, रेवाडी के ट्रैक पर गुजरने वाली ट्रेनें सोमवार को भी कोहरे के कारण लेट रहीं। बसों की रफ्तार भी कोहरे ने धीमी कर दी हैं। इससे बसें भी निर्धारित समय से कई घंटे लेट पहुंच रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here