नई दिल्ली । आम बजट पेश करते वक्त जहां वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ध्यान रखा कि अहम बातें हिंदी में कही जाएं, वहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी यह सुनिश्चित करने में जुटी थीं कि विभिन्न भाषाओं में इसका प्रसार तत्काल हो। प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (पीआइबी) ने यह कसौटी पार भी कर ली।

सूचना प्रसारण का जिम्मा संभाल रहीं मंत्री ने भी पीठ थपथपाने में देर नहीं की। सामान्यत: स्मृति बहुत सख्त मानी जाती हैं, लेकिन बजट के प्रचारप्रसार को लेकर वह एक टीम लीडर के रूप में खड़ी थीं। मंत्री ने अपनी खुशी भी टीम में बांटी। उन्होंने बजट घोषणाओं को संबंधित लोगों के बीच तत्परता से पहुंचाने की इस कामयाबी पर पीआइबी के प्रधान महानिदेशक फ्रैंक नोरोन्हा को बधाई दी।

एक विशेष केक पीआइबी में उनकी टीम को भेजा गया। इस केक पर बजट को प्रचारित करने की कामयाबी के लिए बधाई संदेश लिखा था। नोरोन्हा ने मंत्री के बधाई संदेश वाले केक की तस्वीर शुक्रवार को अपने ट्विटर हैंडल पर साझा भी की। उन्होंने बताया कि मंत्री खुद लगातार बजट को लगभग रियल टाइम में लोगों तक पहुंचाने के काम की मॉनिर्टंरग कर रही थीं।
कई क्षेत्रीय भाषाओं में भी बजट का अनुवाद वहां की भाषा में कर क्षेत्रीय मीडिया को जानकारी उपलब्ध कराने पर भी स्मृति का फोकस रहा। लोकसभा में बजट पेश होने से 24 घंटे पहले पीआइबी के अधिकारियों की टीम को बजट के प्रेस नोट से लेकर इसकी झलकियां और अहम घोषणाओं के रोचक पहलू को तैयार करने में लगा दिया गया था। बजट की गोपनीयता लीक न हो यह सुनिश्चित करने के लिए इन अधिकारियों को एक विशेष कक्ष में ही काम करने के लिए रखा गया। इस दौरान बाहरी दुनिया से उनका संपर्क कटा रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here